71 साल पुराना आंदोलन रंग लाया, चिरुगोड़ा रेलवे हॉल्ट का हुआ उद्घाटन

71 year old movement Chirugoda Railway Haltघाटशिला : धालभूमगढ़ प्रखंड और आसपास के गांवों के लोगों का 71 साल पुराना आंदोलन रंग लाया. इनके आन्दोलन के बाद चिरुगोड़ा रेलवे हॉल्ट का मंगलवार(10जुलाई) को विधिवत उद्घाटन कर ग्रामीणों को समर्पित किया गया. इस दौरान ग्रामीणों में काफी उत्साह देखा गया.

घाटशिला के घाटशिला रेलवे स्टेशन और धालभूमगढ़ रेलवे स्टेशन के बिच चिरुगोड़ा में रेलवे हॉल्ट के निर्माण को लेकर आसपास के ग्रामीणों ने आज से 71 साल पहले आंदोलन शुरू किया था. जो समय-समय पर उठता रहता था और किसी न किसी कारण वस यह आन्दोलन दब जाता था. जिससे इस क्षेत्र के हजारों लाखों दिहारी मजदूर और ग्रामीण घाटशिला,जमशेदपुर और चाकुलिया, झारग्राम, खड़गपुर, कोलकता आदि जाने के लिए काफी दिक्कतें झेलते आये, परन्तु वर्ष 2011 में पंचायत चुनाव होने के बाद धालभूमगढ़ की प्रमुख लीला सिंह ने इस आन्दोलन को फिर से शुरू किया और इसे एक जन-आन्दोलन में बदल दिया. जिसके बाद इसे लेकर लगातार धरना प्रदर्शन करती रहीं जिसमे ग्रामीणों के भरपूर सहयोग के साथ स्थानीय सांसद विद्युत वरण महतो ने भी इनके आन्दोलन को सहयोग देना शुरू किया.

71 साल तक चलता रहा आंदोलन

इस हॉल्ट के निर्माण को लेकर एमपी विद्युत वरण महतो ने दक्षिण पूर्व रेलवे के जीएम, खरगपुर डिविजन के डीआरएम से लेकर रेल मंत्री तक लगतार पहुंचाते रहे और इसको लेकर दबाव बनाते रहे. जहां अच्छी सोच की सरकार के मंत्री और अधिकारियों ने जनताओं के इस भावनाओं को समझा और हावड़ा-मुंबई मेन लाइन पर घाटशिला और धालभूमगढ़ के बीच चिरुगोड़ा में रेलवे हॉल्ट के निर्माण की स्वीकृति प्रदान की गयी. जिसके बाद सांसद निधि से इस हॉल्ट का निर्माण कराया गया. जिसका मंगलवार को विधिवत उद्घाटन कर दिया गया.

vidyut varan mahto




मंगलवार को इसे लेकर उद्घाटन समारोह का आयोजन किया गया जिसमें दक्षिण पूर्व रेलवे जोन के जीएम एस.एन आग्रवाल, डीआरएम खड़गपुर डिविजन के.वी.एन.रेड्डी, सांसद विद्युत वरण महतो, विधायक लक्ष्मण टुडू, जिलापरिषद सदस्या आरती सामद और देवयानी मुर्मू, के साथ-साथ आंदोलन की अगुवा लीला सिंह आदि बतौर अतिथि भाग लिए.

इस नवनिर्मित रेलवे हॉल्ट का विधिवत उद्घाटन सांसद तथा जीएम रेलवे और अन्य अतिथियों के द्वरा टिकट काउंटर का फीता काट कर किया गया. इस अवसर पर सांसद विद्युत वरण महतो ने इस रेलवे काउंटर से पहला रेलवे टिकट खरीदकर टिकट बिक्री की विधिवत शुरुआत की.

महिलाओं ने ट्रेन के रुकते ही की पुष्पवर्षा

इस अवसर पर मंगलवार को रुकने वाली पहली ट्रेन खरगपुर टाटा पसेंजर के रुकते ही ग्रामीन महिलाएं ट्रेन के ऊपर पुष्पवर्षा और कलश जल छींटकर स्वागत किया. लोगों ने ट्रेन के ड्राइवर को गुलदस्ता भी भेंट किया.

ग्रामीणों के वर्षों पुरानी इस मांग के मंगलवार को पूरा होने पर आसपास के ग्रामीणों में उत्सव का माहौल दिखा, उद्घाटन के बाद ग्रामीणों ने सांसद विद्युत वरण महतो के साथ गुलाल लगाकर होली खेली और घंटो डांस किया.

इस अवसर पर दक्षिण पूर्व रेलवे के जीएम एस.एन अग्रवाल ने कहा की अभी एक ट्रेन का ठराव यहां किया गया है और आने वाले दिनों में टिकट सेल अगर अच्छा रहा तो ट्रेनों की संख्या यहां बढ़ा दी जाएगी.

वर्षों पुराने आंदोलन का हुआ विराम

वहीं सांसद विद्युत वरण महतो ने कहा कि वर्षों पुराने आंदोलन का आज विराम हुआ और यह नव निर्मित रेलवे हॉल्ट आम जनता को समर्पित कर रहे हैं. सांसद ने कहा कि बहुत जल्द इस हॉल्ट पर अधिक से अधिक ट्रेनों को रुकवाने का प्रयास किया जाएगा. साथ ही क्षेत्र रेल की अन्य सारी सुविधाओं को मुहैया कराने का प्रयास किया जाएगा. साथ ही टाटानगर से लेकर चाकुलिया तक के सभी रेलवे स्टेशनों के सौन्दर्यीकरण का प्रयास चल रहा है.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat