BREAKING

एसीबी ने 80 हजार घूस लेते लातेहार सिविल सर्जन के कलर्क को किया गिरफ्तार

गिरफ्तारपलामू : भ्रष्‍टाचार पर अंकुश लगाने और भ्रष्‍ट अधिकारियों पर कार्रवाई करते हुये एसीबी ने जिले से दर्जनों रिश्‍वतखोर कर्मियों को जेल की हवा खिलाई है. वहीं सोमवार को भी एसीबी ने भ्रष्‍टाचार के खिलाफ कार्रवाई करते हुये एक कलर्क को 80 हजार रुपये रिश्‍वत लेते हुये रंगेहाथ गिरफ्तार कर न्‍यायिक हिरासत में भेज दिया.

इसे भी पढ़ें : कुएं में एक-दूसरे से लिपटी मिली प्रेमी जोड़े की लाश, लोगों ने कहा- मर कर भी नहीं हुये जुदा

एएनएम से मांग रहा था 1.5 लाख रुपये, 1 लाख में तय हुई थी बात

मालूम हो कि लातेहार जिले के महुआड़ांड़ थाना क्षेत्र के ओरसा निवासी एएनएम दोमनिका तिर्की को अनुपस्थिति रहने के कारण निलंबित कर दिया गया था. निलंबन से मुक्त कराने के लिए सिविल सर्जन लातेहार के पास संचिका बढ़ाने का आग्रह एनएनएम द्वारा कलर्क से किया जा रहा था. कलर्क ने इसके लिए उससे 1.5 लाख रुपये की मांग की. जब शिकायतकर्ता ने इतने पैसे देने में असमर्थता जतायी तो बात एक लाख रुपये में तय हुई. लेकिन एएनएम अपनी गाढ़ी कमाई रिश्‍वत के रूप में नहीं देना चाहती थी. इसलिए उसने इसकी शिकायत एसीबी से की.




इसे भी पढ़ें : आठ वर्षों से उग्रवादियों की गोली फेफड़े में लिये ड्यूटी कर रहा है होमगार्ड का जवान

योजनाबद्ध तरीके से किया गया गिरफ्तार

एसीबी के डीएसपी प्राण रंजन ने बताया कि आवेदन मिलने पर इसका सत्यापन किया गया और मामले को सही पाकर कार्रवाई के लिए टीम बनायी गयी. सोमवार को एसीबी ने निलंबित एएनएम को कैमिकल्स लगे नोट के साथ कलर्क के पास भेजा. पुलिस लाइन रोड में स्थित हनुमान मिष्ठान भंडार के समीप जैसे ही कर्लक ने रुपये लिए मौके पर सादे लिबास में तैनात एसीबी के अधिकारियों ने कलर्क को रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया.

इसे भी पढ़ें : एमजीएम अस्‍पताल में मानवता शर्मसार, जमीन पर बेसुध पड़े मरीज के लिए आवारा कुत्‍तों के सामने रख दिया खाना



WhatsApp chat Live Chat