दुष्कर्म के आरोपी भतीजे को विधायक केदार हाजरा ने कराया सरेंडर

हाजराजमुआ (गिरिडीह) : कारोडीह गांव की 15 वर्षीय छात्रा के साथ हुई दुष्कर्म के मुख्य आरोपी विधायक केदार हाजरा के भतीजे ने जमुआ थाना में सरेंडर कर दिया. गुरुवार देर शाम को जमुआ विधायक केदार हाजरा ने कानून का सम्मान करते हुए जमुआ थाना में सरेंडर कराकर प्रशासन का काम आसान कर दिया. इस दौरान विधायक केदार हाजरा ने कहा कि विपक्ष कानून का सम्मान करने नही जानती है. किसी भी मामले की सभी तरह की जांच होती है. घटना के समय मे वे रांची से बाहर थे. मामले की जानकारी मिली तो उन्होंने ही थानेदार से मामला दर्ज करने की अपील की थी, मगर पीड़ित विपक्ष के खेमें में जाकर तोल मोल कराने के लिए पांच दिन तक टहलते रहे. मैं किसी पंचायती में नहीं था और न ही किसी पर दबाब बनाया हूं.

इधर समर्पण के बाद आरोपी युवक ने कहा कि वह निर्दोष है. विधायक ने कहा कि मेरा भतीजा बाहर पढ़ाई करता है. मैंने कल ही उसे घर बुलाया और सभी तरह की जानकारी ली. उन्होंने कहा कि मेरी लोकप्रियता को देखकर विपक्ष के लोग हायतौबा मचा रहे थे कि आरोपी को विधायक संरक्षण दे रहा है. मैंने किसी भी आरोपी को संरक्षण नहीं दिया है. कहा कि वे कानून का सम्मान करते हैं.




गौरतलब हो कि पिछले 25 अक्टूबर को कारोडीह गांव की 15 वर्षीय युवती से दुष्कर्म करने का आरोप  विधायक के भतीजे पर लगा था. इस मामले को लेकर पीड़िता की मां ने जमुआ थाना में दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया था. मामला दर्ज होते ही झाविमो नेत्री मीरा तिवारी ने मोर्चा खोलते हुए आरोपी को बचाने का विधायक पर आरोप लगाया था. इधर 2 नम्बर को भाकपा माले ने पीड़ित परिजनों से मिलकर मामले की तहकीकात की और दुष्कर्म के मामले में जमुआ विधायक पर  निशाना साधते हुए प्रतिवाद मार्च कर विधायक का पुतला दहन किया था.

क्या कहते हैं एसडीपीओ 

खोरीमहुआ एसडीपीओ राजीव कुमार ने कहा कि विधायक ने अच्छी पहल कर आरोपी को सरेंडर कराकर कानून का सम्मान किया है. आरोपी को कानून के तहत बाल सुधार गृह देवधर भेजा जा रहा है, क्योंकि आरोपी की उम्र 16 वर्ष है. अब कानून के तहत मामले की जांच की जा रही है.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat