BREAKING

डीजीपी के बाद एडीजी ने राज्‍य सरकार से मिशनरीज ऑफ चैरिटी पर कार्रवाई का किया अनुरोध

आरके मल्लिकरांची : डीजीपी डीके पांडे ने मंगलवार को गृह सचिव एसकेजी रहाटे को पत्र लिखकर मिशनरीज ऑफ चैरिटी एवं उससे जुड़ी अन्‍य संस्‍थाओं के फंड की सूक्ष्‍म जांच केंद्र सरकार से कराने को कहा था. उन्‍होंने केंद्र सरकार से अनुरोध कर मिशनरीज ऑफ चैरिटी के सभी खातों को भी सीज करने का अनुरोध किया था. उनके बाद अब झारखंड के एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) आरके मल्लिक ने भी चाइल्ड ट्रैफिकिंग मामले में राज्य सरकार से सीबीआई जांच की मांग की है. उन्होंने मिशिनरी ऑफ चैरिटी और इसके पांच एसोसिएट ऑर्गेनाइजेशन्स के सभी खातों को भी सीज करने की मांग की है. उन्होंने कहा कि जांच में हमें चैरिटी द्वारा 121 बच्चों के बेचे जाने का रिकॉर्ड मिला है.

इसे भी पढ़ें :अमित शाह ने नेताओं-कार्यकर्ताओं में भरा जोश, कहा- 2019 में झारखंड की सभी 14 सीटें जीतनी है

जांच के बाद हो रहे नये-नये खुलासे से मिशनरीज ऑफ चैरिटी कटघरे में




मिशनरीज ऑफ चैरिटी द्वारा बच्‍चा बेचने का मामला उजागर होने के बाद मामले में की गई जांच और अनुसंधान एवं विभिन्‍न स्‍त्रोंतों से मिली जानकारी के अनुसार मिशनरीज ऑफ चैरिटी फंड को अपने उद्देश्‍यों के अलावा दूसरे कामों में खर्च कर रही है. जो इनके उद्देश्‍यों से विपरीत है. जांच के बाद जो खुलासे हो रहे हैं, वे मिशनरीज ऑफ चैरिटी को कटघरे में खड़ा कर रही है. प्राप्त जानकारी और दस्‍तावेजों के अनुसार मिशनरीज ऑफ चैरिटी के साथ पांच अन्य संस्थाएं जुड़ी हुई है, जिन्हें वर्ष 2006-07 से लेकर 2016-17 तक 11 वर्षों के दौरान 927.27 करोड़ रुपए की विदेशी फंडिंग हुई है. ये फंड इनको जिन उद्देश्‍यों के लिए मिली है, उसके अलावे दूसरे कामों में भी इस फंड को खर्च करने की जानकारी मिल रही है.

इसे भी पढ़ें :जमशेदपुर: मॉल के चेंजिंग रूम में लड़कियों का वीडियो बनाता था कर्मचारी, जमकर हुई पिटाई

मिशनरीज ऑफ चैरिटी के इन जिलों में चल रहे हैं बाल गृह

मिशनरीज ऑफ चैरिटी के विभिन्न जिलों में 12 बाल गृह चल रहे हैं. जिसमें एमसी सुरुचिकला गोड्‌डा, एमसी साटिनो रोड डालटनगंज, एमसी निर्मला शिशु भवन रांची, एमसी न्यू शांति नगर गुमला, एमसी गिरीडीह, एमसी साहेबगंज, एमसी दुमका, एमसी निर्मला शिशु भवन हजारीबाग, एमसी शांति निवास धनबाद, एमसी जमशेदपुर, एमसी ईस्ट जेल रोड रांची, ब्रदर ऑफ चैरिटी कांके रोड जवाहरनगर रांची.

मिशनी कोलकाता को वर्ष 2011-12 से लेकर 2016-17 तक 1.94 कररोड़ रुपए का विदेशी फंड मिला. वहीं मिशनरीज ऑफ चैरिटी फादर्स इंडिया को वर्ष 2011-12 से 2016-17 के बीच 27.71 करोड़ रुपए विदेशी फंड मिले. मिशनरी सिस्टर्स ऑफ मैरी हेल्प ऑफ चैरिटीयंस वेलफेयर सोसाइटी को वर्ष 2016-17 में 27.71 लाख रुपए का विदेशी फंड मिला है.

इसे भी पढ़ें :रांची : स्वर्णरेखा नदी के किनारे मिला 2 महीने की बच्ची का शव, जूते के फीते से गला घोंटकर की गयी हत्या



WhatsApp chat Live Chat