राज्‍य के विभिन्‍न ज्‍वलंत मुद्दों को लेकर आदिवासी समाज को संबोधित करेंगे अमित शाह

रांची : बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के एकदिवसीय झारखंड दौरा के दौरान आदिवासी समाज को साधने की हर संभव कोशिश होगी. अमित शाह आदिवासी समाज के अगुआ और बुद्धिजीवियों के साथ बैठक कर मौजूदा राजनीतिक हालात और आदिवासी समाज को लेकर सरकार की नीतियों पर प्रकाश डालेंगे. वहीं राज्‍य के विभिन्‍न ज्‍वलंत मुद्दों पर विपक्ष की राजनीति का माकूल जवाब देंगे.

झारखंड में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का दौरा वर्तमान राजनीतिक हालात की दिशा में समाधान की ओर भी केंद्रित रहेगा. हाल के दिनों में झारखंड के अंदर CNT-SPT एक्ट का उल्लंघन, भूमि अधिग्रहण संशोधन कानून, स्थानीय नीति का पेंच, आरक्षण का मुद्दा और आदिवासी समाज के उत्थान को लेकर विपक्ष की राजनीति के खिलाफ अमित शाह समाज के बुद्धिजीवी वर्ग को अपनी ओर आकर्षित करते नजर आएंगे.

इन पर रहेगा फोकस

रांची के कार्निवाल हॉल में आयोजित बैठक में आदिवासी समाज के अगुआ, मानकी-मुंडा, डॉक्टर, प्रोफेसर और बुद्धिजीवी मुख्य रूप से उपस्थित रहेंगे. बीजेपी ST मोर्चा ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है. राज्य भर के 500 से अधिक समाज से जुड़े बुद्धिजीवी वर्ग इस बैठक में उपस्थित रहेंगे.




आदिवासी समाज पर पकड़ मजबूत करने पर रहेगा जोर

आदिवासी समाज को लेकर बीजेपी की यह रणनीति यूं ही नहीं है. दरअसल विपक्ष की राजनीति और आदिवासी समाज के बीच बीजेपी की ढीली पड़ती पकड़ को ध्यान में रखते हुए अमित शाह के साथ यह बैठक आयोजित की गई है. वैसे यह बात सच है कि राष्ट्रीय राजनीति में बीजेपी के पास इस वक्त सबसे ज्यादा आदिवासी विधायक और सांसद हैं, बावजूद इसके झारखंड में आदिवासी समाज के बीच बीजेपी को अपनी पकड़ बनाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ रही है.

झारखंड में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की रणनीति कितनी कामयाब होती है और वो बंद कमरे में आदिवासी समाज को कितना आकर्षित कर पाते हैं यह तो वक्त ही बताएगा, लेकिन बीजेपी की यह कोशिश आदिवासी समाज को सोचने पर जरूर मजबूर कर सकती है.





WhatsApp chat Live Chat