असामाजिक तत्वों ने तोड़ा अंबेडकर की प्रतिमा का उंगली, आपस में भिड़ गये लोग

गढ़वा : संविधान के रास्ते पर सीधे चलने का राह बताने वाले बाबा साहेब की उस सीधी उंगली को बुधवार को गढ़वा में किसी असामाजिक तत्वों ने तोड़ दिया. जिससे लोग आक्रोशित हो गए और कार्रवाई की मांग करने लगे. मौके पर तत्काल पहुंच प्रशासन ने लोगों को समझा-बुझा कर शांत कराया.

दरअसल, जिला मुख्यालय के हृदयस्थली रंका मोड़ चौक पर स्थापित डॉ अंबेडकर की मूर्ती का किसी असमाजिक तत्व ने उंगली तोड़ दिया. प्रतिमा की उंगली टूटने की खबर शहर में आग की तरह फैल गयी. जिसने भी सुना, घटना स्थल पर पहुंच गया. वहीं अंबेडकर की टूटी हुई उंगली को देख लोग आक्रोशित हो उठे. सभी ने इस काम को घृणित बताया. वहीं, प्रतिमा स्थल पर पहुंचे अंबेडकर के अनुयायियों ने इस काम को कुकृत्य करार दिया. पूर्व सांसद घुरण राम ने इसे पूरी तरह शर्मनाक बताते हुए कार्रवाई की मांग की.




देखते ही देखते वहां नोताओं, कार्यकर्ताओं और आम लोगों का हुजूम जमा हो गया. बाबा साहेब की उंगली तोड़े जाने के मामले को ले कर विपक्ष और सत्तापक्ष के नेता आपस में भिड़ गए. विपक्ष यानी बहुजन के लोग अंबेडकर को अपना बताने लगे तो उधर सत्तापक्ष यह समझाने लगा कि बाबा साहेब किसी एक पक्ष के नहीं हैं. वो तो सबके हैं. धीरे-धीरे बात विवाद में बदल गया. सत्तापक्ष और विपक्ष के लोगों में घमासान होने लगा. वहीं मामले की जानकारी मिलते ही मौके पर पुलिस भी पहुंच गई. पुलिस ने दोनों पक्षों के लोगों को शांत कराया.

उंगली तोड़ने वाले बक्शा नहीं जाएगा

उधर सूचना मिलने के साथ मौके पर पहुंच आक्रोशित लोगों को शांत कराने वाले सदर एसडीओ ने कहा कि यह काम किसी असामाजिक तत्व का है. दूसरी ओर इस बाबत पूछे जाने पर पुलिस कप्तान ने कहा कि जिसने ने भी ऐसा कृत्य किया है, वह बहुत ही गलत है, उसे किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat