NEWS11

विधानसभा चुनाव : अमित शाह ने झारखंड, हरियाणा, दिल्ली और महाराष्ट्र के लिए की प्रभारियों की नियुक्ति

नई दिल्ली:  भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने झारखंड, हरियाणा, महाराष्ट्र और दिल्ली के विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए अपने चुनाव प्रभारियों की नियुक्ति कर दी है. पार्टी द्वारा जारी की गई सूचना के मुताबिक, इनकी नियुक्ति तत्काल प्रभाव से लागू होगी. आपको बता दें कि इन चारों ही राज्यों में अगले कुछ महीनों के अंदर विधानसभा चुनाव होने हैं. ऐसे में भगवा दल द्वारा की गई चुनाव प्रभारियों की ये नियुक्तियां बेहद ही महत्वपूर्ण हो जाती हैं.

जानें, झारखंड में किसे मिली कमान

दिल्ली की जिम्मेदारी इन दो नेताओं को

2015 में हुए दिल्ली विधानसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 70 में से 67 सीटें जीती थीं, जबकि बीजेपी के खाते में सिर्फ 3 सीटें आई थीं. इस बार भगवा दल ने अपनी पार्टी को पुरानी हार भुलाकर आगामी विधानसभा चुनावों में बेड़ा पार लगाने की जिम्मेदारी केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को चुनाव प्रभारी बनाया है. वहीं, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और केंद्रीय राज्य मंत्री नित्यानंद राय को चुनाव सह प्रभारी बनाया गया है. वहीं, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्याम जाजू प्रदेश संगठन प्रभारी और राष्ट्रीय सचिव तरुण चुघ सह प्रभारी होंगे.

तोमर को दी गई हरियाणा की जिम्मेदारी

बीते लोकसभा चुनावों में शानदार प्रदर्शन करते हुए भारतीय जनता पार्टी ने हरियाणा की सभी 10 लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज की थी. पार्टी ऐसा ही कुछ विधानसभा चुनावों में दोहराना चाहेगी, और इसके लिए उसने केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को चुनाव प्रभारी नियुक्त किया है. वहीं, उत्तर प्रदेश की सराकर में मंत्री भूपेंद्र सिंह को चुनाव सह प्रभारी बनाया गया है. साथ ही राष्ट्रीय महामंत्री डॉक्टर अनिल जैन प्रदेश संगठन प्रभारी के रूप में कार्यरत रहेंगे.

महाराष्ट्र की जिम्मेदारी भूपेंद्र यादव को

महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों के लिए पार्टी ने अपने राष्ट्रीय महासचिव भूपेंद्र यादव को प्रभारी बनाया है। वही, यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य सह प्रभारी हैं. इनके अलावा कर्नाटक के पूर्व विधायक लक्ष्मण सावदी को भी सह प्रभारी बनाया गया है.


महाराष्ट्र में हुए पिछले विधानसभा चुनावों में शानदार प्रदर्शन करते हुए बीजेपी ने सबसे ज्यादा सीटें जीती थीं, और बाद में शिवसेना से गठबंधन कर सरकार बनाई थी.

Related posts

कभी हुआ करता था एचईसी का मुख्य मंच, आज बना बदहाल

Sumeet Roy

गोकुल वृन्दावन की तरह सज़ा हैप्पी फीट स्कूल का प्रांगन, बाल कृष्णा ने प्रस्तुत किया मनोरंजक कार्यक्रम…

Sumeet Roy

दो बाइक की सीधी टक्‍कर में एक छात्र की मौत, 5 घायल

Rajesh

बहुचर्चित तारा शाहदेव लव जेहाद मामला : कल आ सकता है कोर्ट का फैसला

Pawan

आजसू को चाहिए बड़ी हिस्‍सेदारी, 8 नहीं 20 सीट पर ठोक रही ताल

Rajesh

मच्छरों से हार रहे जंगलों में नक्सलियों से लोहा लेने वाले जवान

Pawan
WhatsApp chat Live Chat