अटेंशन प्‍लीज ! सोशल मीडिया इस्‍तेमाल करने वाले सावधान

नई दिल्‍ली : अटेंशन प्‍लीज, सोशल मीडिया के यूजर्स कृप्‍या ध्‍यान दें. अगर आप सोशल मीडिया पर कुछ पोस्‍ट करेंगे तो उससे पहले उसे जांचे, परखे फिर उसे पोस्‍ट करें. अगर ऐसा नहीं करते हैं तो आपको महंगा पड़ सकता है. आप पर इन विभाग की सीधी नजर है. गलत पोस्‍ट करने पर आप पर कार्रवाई भी हो सकती है, हो सकता है आपको जेल भी जाना पड़ सकता हैं. इसको सख्ती से पालन करने के लिए जिला प्रशासन का निर्वाचन विभाग सक्रिय है. सोशल मीडिया के माध्यम से प्रोपेगेंडा फैलाने, आपत्तिजनक टिप्पणियां तथा किसी खास दलीय उम्मीदवार के प्रचार संबंधित तस्वीर-वीडियो पोस्ट करने वालों यूजर की निगरानी शुरू कर दी गई है.

दरअसल, आपके सोशल मीडिया पर चुनाव आयोग की नजर है. सोशल मीडिया पर किसी राजनीतिक दल विशेष के पक्ष में पोस्ट करना यूजर को महंगा पड़ सकता है. चुनाव आयोग ने इसके लिए साइबर सेल का गठन किया है. सोशल मीडिया के हर पोस्ट पर नजर रखी जा रही है. खासकर फेसबुक तथा व्हाट्सएप पर किए जा रहे पोस्ट पर साइबर सेल नजर रखी रही है. देश के विभिन्‍न जिलों में भी साइबर सेल का गठन हो चुका है. जिला प्रशासन चुनाव की घोषणा होते ही इस पर सक्रिय हो गई हैं.

वहीं फेसबुक और व्हाट्सएप ग्रुप की भी निगरानी की जा रही है. पुलिस अधिकारियों की मानें तो किसी पार्टी विशेष के पक्ष में प्रचार के लिए अगर कोई फेसबुक या व्हाट्सएप यूजर पोस्ट करना चाहते हैं तो उन्हें नियमानुकूल परमिशन लेनी होगी. अपने हर पोस्ट की जानकारी संबंधित अधिकारी को देना होगा.

आपको बता दें कि मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है. देश में कुल 7 चरणों में लोकसभा चुनाव होंगे. पहले चरण की वोटिंग 11 अप्रैल, दूसरे चरण की 18 अप्रैल, तीसरे चरण की 23 अप्रैल, चौथे चरण की 29 अप्रैल, पांचवे चरण की 6 मई, छठे चरण की 12 मई और सातवें चरण की वोटिंग 19 मई को होगी. इसके बाद 23 मई नतीजे घोषित होंगे.



Loading...
WhatsApp chat Live Chat