राजधानी की सड़कों पर धड़ल्ले से दौड़ रहे बिना परमिट वाले ऑटो, बन रहे जाम का सबब

रांची : शहर में ऑटो चालकों की मनमानी के कारण आये दिन जगह-जगह सड़कें जाम रहती हैं. जिससे राहगीरों को काफी परेशानी होती है. वहीं राजधानी रांची में सड़क हादसे भी बढ़ रहे हैं. रांची में परमिट वाले ऑटो से ज्‍यादा बगैर परमिट वाले ऑटो चलते हैं. जबकि झारखंड हाईकोर्ट का सख्‍त आदेश है कि राजधानी में सिर्फ परमिट वाले ऑटो को ही चलने दिया जाय. इसके बावजूद रांची में धड़ल्‍ले से बगैर परमिट वाले ऑटो दौड़ रहे हैं. वहीं पुलिस-प्रशासन ने अपनी आंखे बंद कर रखी है. इन लोगों के कारण शहरवासियों को काफी परेशानी उठाना पड़ता है.

ऑटो चालक ने प्रशासन को ठहराया जिम्‍मेवार

ऑटो चालक का कहना है कि इन लापरवाही का जिम्मेवार प्रशासन है. ऑटो के लिए कहीं भी ऑटो स्टैंड नहीं बना है और जो स्टैंड बने हैं उसमें पैसेंजर रहते नहीं हैं. इसके अलावा शहर में करीब 3500 ऑटो की ही परमिट है. सख्त कानून नहीं होने के कारण बिना लाइसेंस के ऑटो भी सड़क पर घूमते हैं, जिस कारण शहर में ऑटो की संख्या बहुत ज्यादा हो गई है. जरूरत से ज्‍यादा ऑटो होने के कारण जगह-जगह जाम लग जाता है. इसके अलावा यात्री भी रास्ते में ही ऑटो को हाथ दिखा कर रोक देते हैं.




अवैध रूप से शहर में चल रही है ऑटोरिक्‍शा

शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में ऑटोरिक्शा चालकों की मनमानी बाधा बन गयी है. ट्रैफिक पुलिस के द्वारा इन ऑटो चालकों पर सही तरीकों से कार्रवाई भी नहीं होती है. शहर की सड़कों पर ओवरलोड ऑटो फर्राटे से दौड़ रहे हैं. अपनी मर्जी के मुताबिक ऑटो चालक कहीं भी पैसेंजर को बैठने के लिए ऑटो रोक देते हैं. ऐसा लगता है कि इन मामलों में ट्रैफिक पुलिस और प्रशासन ने अपनी आंखे बंद कर रखी है. एक पुलिस अफसर ने बताया कि ऑटो चालकों की मनमानी पर प्रशासन की ओर से कोई सख्त कार्रवाई अभी तक नहीं हुई है और न ही कोई सख्‍त कानून बना है. जिसके वजह से मौके पर मौजूद ट्रैफिक पुलिस और पुलिसकर्मी भी कुछ नहीं कर पाते हैं. वहीं निगम का कहना है कि ऑटो चालकों को रूट पास और परमिट निर्धारित किया गया है फिर भी कुछ ऑटो चालक अवैध रूप से ऑटो चला रहे हैं.





WhatsApp chat Live Chat