BREAKING

बारिश से बचने के लिए आम के पेड़ के नीचे खड़ी महिला व बच्‍ची की वज्रपात से मौत

वज्रपात पलामू :  हर वर्ष बारिश के दिनों में झारखंड के विभिन्‍न क्षेत्रों में वज्रपात से सैकड़ों लोगों की मौत हो जाती है. इस वर्ष भी अभी तक दो दर्जन से अधिक लोगों की मौत वज्रपात से हो चुकी है. वहीं पलामू के पांकी थाना क्षेत्र के उदयपुर पंचायत के बघेला गांव में वज्रपात से एक महिला लालो देवी व एक बच्ची रिंकी कुमारी की मौत हो गई. मिली जानकारी के अनुसार सोमवार की शाम दोनों गांव में ही घूम रही थी. तभी गरज के साथ तेज बारिश होने लगी. बारिश से बचने के लिए दोनों एक आम के पेड़ के नीचे खड़ी हो गई. पेड़ पर अचानक हुये वज्रपात की चपेट में आकर दोनों की मौत हो गई. घटना के बाद गांव में मातमी सन्‍नाटा छाया हुआ है.

इसे भी पढ़ें :कांग्रेस में अंतर्कलह : सुबोधकांत ने डॉ अजय पर साधा निशाना, कहा- प्रदेश अध्यक्ष को कांग्रेस के कल्चर की जानकारी नहीं



इसे भी पढ़ें :आरक्षण के मुद्दे पर सरकार के महाधिवक्ता के राय से आजसू सहमत नहीं

रविवार को बोकारो में वज्रपात से पांच बच्‍चों की हुई थी मौत

रविवार को बोकारो के पेटरवार तथा चास थाना क्षेत्रों में वज्रपात की अलग-अलग घटनाओं में कुल पांच बच्चों की मौत हो गयी थी. चास थाना क्षेत्र के अलकुशा गांव में वज्रपात से चार बच्चों की मौत उस वक्त हो गयी थी, जब वे दो तल्ला छत के कमरे में बैठे थे. मृतकों में सभी बच्‍चे 12 से 14 वर्ष की उम्र के थे. वहीं चास प्रखंड के ही पिंड्राजोरा थाना क्षेत्र अंतर्गत सोनाबाद में भी वज्रपात हुई थी, जिसमें बसंती कुमारी नामक 14 वर्षीय बच्ची बुरी तरह झुलस गयी थी. घटना के समय बसंती अपनी बहन के साथ घर में थी.

इसे भी पढ़ें :रिफाइंड ऑयल लदा टैंकर अनियंत्रित होकर पलटा, मदद करने के बजाए तेल भरकर ले गए लोग



WhatsApp chat Live Chat