BREAKING

बाबा रामदेव 401 बीघा जमीन पर नहीं बना सकेंगे योगपीठ, राज्य सरकार ने पीछे खींचे कदम

BABA-RAMDEV VASUNDHARA-SARKAR BHARAT-SWABHIMAN-TRUST PATANJALI भारत-स्वाभिमान-ट्रस्ट पतंजलीजयपुर : राजस्थान के करौली में 401 बीघा जमीन पर प्रस्तावित बाबा रामदेव के ड्रीम प्रोजेक्ट के खुलासे के बाद राज्य की भाजपा सरकार ने अपने कदम पीछे खींच लिए हैं. राज्य की वसुंधरा सरकार ने नियमों का हवाला देते हुए जमीन की श्रेणी का कृषि से व्यवसायिक में नियमन करने से इनकार कर दिया है. यानी अब बाबा रामदेव से जुदा भारत स्वाभिमान ट्रस्ट अब इस जमीन पर योगपीठ, गुरुकुल और आयुर्वेदिक औषधालय आदि नहीं बना पाएगा.




इतना ही नहीं श्री गोविंद देव जी मंदिर ट्रस्ट और भारत स्वाभिमान ट्रस्ट के बीच हुई लीज डीड को भी रद्द किया जाएगा. इन दोनों संगठनों को अब नए सिरे से करार करना होगा, जिसमें यह शर्त प्रमुखता से होगी की मंदिर की जमीन का गैर कृषि कार्य के लिए उपयोग नहीं किया जाएगा.

बता दें कि कुछ दिनों पहले बाबा रामदेव के प्रोजेक्ट में नियमों को ताक पर रखे जाने की खबर आई थी. जिसमें श्री गोविंद देव जी ट्रस्ट और भारत स्वाभिमान ट्रस्ट की बीच के लीज डीड को अवैध बताया गया था. इसके पीछे यह कारण दिया गया था कि जमीन सरकारी रिकॉर्ड में मंदिर के नाम से दर्ज है. जिसके कारण ट्रस्ट को यह अधिकार नहीं है कि वह इसे गैर कृषि कार्य के लिए किसी को लीज पर सौंप दे.



WhatsApp chat Live Chat