“बेटी पढ़ाव बेटी बचाव” अभियान की बेंगाबाद में उड़ी धज्जियां, कस्तूरबा विद्यालय में नामांकन के लिए तीन माह से भटक रही छात्राएं

धज्जियांबेंगाबाद (गिरिडीह) : बेंगाबाद में “बेटी पढ़ाव बेटी बचाव” अभियान की धज्जियां उड़ती नजर आ रही है. यहां के कस्तूरबा विद्यालय में नामांकल के लिए छात्राओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. छात्राएं तीन महीने से भटक रही हैं पर उनका नामांकन नहीं हो पाया है. गरीब छात्रायें नामांकन के लिये रोज काट रही हैं. जानकारी के अनुसार नामांकन सूची में नाम आने के बाद भी शिक्षा विभाग ने नामांकन पर रोक लगा दी है.

मामले को लेकर वार्डन सुनीता सिंह ने कहा कि जिला पदाधिकारियों का निर्देश आने के बाद ही नामांकन शुरु की जाएगी. इधर एडीपीओ पीयूष कुमार से बात करने पर कहा कि अध्ययनरत छात्राओं का नामांकन नहीं होगा.




बता दें कि बेंगाबाद प्रखण्ड क्षेत्र की गरीब निर्धन छात्राओं ने कस्तूरबा विद्यालय में नामांकन के लिए फार्म भरा था. पदाधिकारियों द्वारा जांच के पश्चात सही पाए जाने पर नामांकन सूची में नाम आने पर भी नामांकन नहीं किया जा रहा है. विद्यालय छात्राओं से टीसी, जाति प्रमाण पत्र आदि नामांकन के लिए मांगे जा रहे थे, जिसे छात्राओं ने काफी पहले जमा कर दिया है. बावजूद इसके नामांकन नहीं किया जा रहा है. बहरहाल, प्रखण्ड क्षेत्र की 40 गरीब बेटियों का भविष्य अंधकार में है. विभाग गहरी नींद में है. ऐसे में बेटी पढ़ाव बेटी बचाव अभियान की पोल खुलती नजर आ रही है.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat