NEWS11

Bokaro Jharkhand

बोकारो : मौसीबाड़ी से घर लौटे भगवान जगन्नाथ, बहुरा यात्रा में भी उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

मौसीबाड़ीबोकारो : भगवान जगन्नाथ रविवार को पूरे विधि-विधान के साथ देवी सुभद्रा व बलभद्र भगवान संग मौसीबाड़ी से पुनः अपने घर लौट गये. नगर के सेक्टर-1 स्थित राममंदिर में मौसीबाड़ी से भगवत प्रतिमाओं को रथ पर विराजमान करने की पहांडी क्रिया संपन्न की गयी. इसके बाद बोकारो स्टील के अधिशासी निदेशक सह निदेशक प्रभारी (चिकित्सा व स्वास्थ्य सेवायें) डॉ. एके सिंह ने रथ की पावन सफाई की रस्म छेरा-पहंरा अदा की. पूजन के बाद बहुरा यात्रा (घुरती यात्रा) शुरू हुई, जो राम मंदिर से निकलकर पत्थरकट्टा चौक, सिटी सेन्टर, गांधी चौक, बीजीएच मोड़ होते हुए सेक्टर-4 स्थित जगन्नाथ मंदिर पहुंची. इसमें भी भारी संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ देखी गयी.

दो दिन रथ पर रहेंगे भगवान

खराब मौसम व झमाझम बारिश के बीच भक्तों ने आस्था के आगे परेशानी को पीछे छोड़ते हुए रथ की रस्सी खींचकर इसकी प्रगति में अपना योगदान दिया तथा पूजा की. अब दो दिनों तक भगवान जगन्नाथ देवी सुभद्रा व भगवान बलभद्र के साथ मंदिर के बाहर ही रथ पर श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ विराजमान रहेंगे. इसके बाद उनका मंदिर में प्रवेश होगा. ऐसी मान्यता है कि भगवान जगन्नाथ के देवी लक्ष्मी को बिना बताये मौसीबाड़ी चले जाने पर देवी लक्ष्मी नाराज हो गयीं थीं. जब भगवान लौटे तो दो दिनों तक उन्होंने घर का द्वार नहीं खोला और भगवान को बाहर ही रहना पड़ा. यह परंपरा प्राचीन काल से चली आ रही है. राम मंदिर स्थित मौसीबाड़ी में भगवान की नित्य-प्रति पूजा, आरती के साथ भजन-कीर्तन के कार्यक्रम होते रहे.

Related posts

फांसी लगाकर म‍हिला ने की आत्‍महत्‍या, परिजनों ने ससुरालवालों पर लगाया हत्‍या का आरोप

Rajesh

डॉ अजय कुमार ने प्रदेश अध्‍यक्ष पद से दिया इस्‍तीफा, हार की नैतिक जिम्‍मेवारी ली

Rajesh

गोली मारकर युवक की हत्‍या, विरोध में सड़क जाम

Rajesh

रिम्‍स में इलाजरत छात्र की मौत, परिजनों ने डॉक्‍टरों पर लगाया लापरवाही का आरोप

Rajesh

खूंटी में छऊ नृत्य पार्टी से भरा ट्रक पलटा, एक दर्जन से अधिक घायल, तीन गंभीर

Rajesh

अल्‍पसंख्‍यकों का विश्‍वास जीतने में जुटा एनडीए, सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास का दिया नारा

Rajesh