बोकारो : जमीन विवाद में अधेड़ की लाठी-डंडे से पीट-पीटकर हत्या

बोकारो : बोकारो जिले के कसमार थाना क्षेत्र अंतर्गत हसलता ग्राम स्थित घट्टीगढ़ा टोला में गुरुवार सुबह एक व्यक्ति की हत्या कर दी गयी. दो माह से चले आ रहे जमीन के एक विवाद में 55 वर्षीय सहदेव महतो की हत्या कुछ लोगों ने लाठी-डंडे से पीट-पीटकर कर दी. पिटाई में गंभीर रूप से घायल हो जाने के बाद बोकारो के सदर अस्पताल ले जाने के क्रम में रास्ते में उसकी मौत हो गई. घटना के संबंध में मृतक के पुत्र सिकंदर और नाती शंकर ने बताया कि लगभग दो महीने से 40 डिसमिल जमीन को लेकर कुछ लोगों से विवाद चल रहा था.

32 सालों से सहदेव का जमीन पर है कब्जा

विगत 32 वर्षों से उक्त जमीन पर सहदेव और उसके परिजनों का कब्जा रहा है. वे लोग ही जुताई करते रहे हैं. इस बीच वहीं के रहने वाले नकुल महतो, रतन महतो, गोपाल महतो आदि के परिवार ने उक्त जमीन पर अपनी दावेदारी ठोक दी. उन लोगों ने नापी कराने की बात कही थी. इस पर सहदेव की ओर से सरकारी अमीन को आवेदन दिया गया था. थाने में भी दरख्वास्त दी गई थी. मृतक के पुत्र सिकंदर ने बताया कि उन लोगों ने दूसरे पक्ष के लोगों को नापी कराने के लिए अपनी सहमति दे दी थी. साथ ही कहा था कि सरकारी नापी में जिसके हिस्से जो जमीन आएगी, उसे वह मिलेगी. इसे लेकर आपस में विवाद करना सही नहीं है, लेकिन वे लोग नहीं माने.




नकूल महतो व अन्य ने जबरन शुरु कर दी खेत की जुताई

इसी क्रम में गुरुवार सुबह वे लोग जबरन जमीन की जुताई करने लगे. उस वक्त घर में सहदेव का पुत्र सिकंदर और अन्य कोई पुरुष सदस्य मौजूद नहीं था. सिकन्दर एक शादी में रघुनाथपुर चला गया था, जहां उसके पिता के साथ मारपीट की खबर मिली. बताया जाता है कि सहदेव खेत पहुंचकर जुदाई का विरोध करने लगा. इसी बात पर वे लोग भड़क गए. नकुल महतो, रतन महतो, गोपाल महतो, छोटू महतो, नंदलाल महतो, जग्गू महतो, हरिया महतो, मुन्ना महतो, भुवनेश्वर महतो सहित 10-15 लोगों ने उस पर जानलेवा हमला कर दिया. लाठी डंडे से उसकी पिटाई कर उसे बुरी तरह घायल कर दिया.

अस्पताल जाने के क्रम में मौत

लाठी के वार से सिर फट जाने के कारण उसे काफी गहरी चोटें आयीं. आनन-फानन में उसे बोकारो के सदर अस्पताल ले जाया गया. पर अस्पताल पहंचने से पहले ही रास्ते में उसकी मौत हो गयी. सिकंदर ने बताया कि इस संबंध में उसने कसमार पुलिस को जानकारी दे दी है. घटना के बाद पुलिस अपने स्तर से कार्रवाई में जुट गई है. समाचार लिखे जाने तक आरोपियों में से किसी की भी गिरफ्तारी नहीं की जा सकी थी.





WhatsApp chat Live Chat