बोकारो पुलिस ने डकैती और फायरिंग की घटना का किया उद्भेदन, दो कुख्यात अपराधी गिरफ्तार, कार सहित अन्‍य सामान बरामद

बोकारो : विगत कुछ महीनों से बोकारो और उपशहर चास में डकैती का तांडव मचाने वाले अपराधियों के गिरोह तथा पूरे मामले का खुलासा पुलिस ने अंततः कर ही लिया. न केवल खुलासा किया, बल्कि वारदातों को अंजाम देने वाले अपराधियों में से दो कुख्यातों को दबोच भी लिया है. मो. जाहिद और अख्तर की गिरफ्तारी के साथ ही चास-बोकारो के तीन-तीन डकैती कांडों तथा भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष अम्बिका खवास के घर हुई फायरिंग की घटनाओं का उद्भेदन सफलतापूर्वक कर लिया गया है.

ठेकेदार के यहां हुई थी लाखों रुपए की डकैती

पुलिस को यह बड़ी कामयाबी चास में ठेकेदार रामसेवक सिंह के घर डकैती के मामले के छानबीन के दौरान मिली. बीते 26 सितंबर को चास थाना क्षेत्र अंतर्गत बाईपास रोड के समीप ठेकेदार रामसेवक सिंह के घर दिन-दहाड़े हुई लाखों की डकैती के मामले में 10 नवंबर को गिरफ्तार कुख्यात डकैत विभाष पासवान एवं पिंकू पांडेय की गिरफ्तारी के पश्चात उनके स्वीकारोक्ति बयान के आधार पर स्थानीय स्तर पर सूत्रधार निभाने वाले दो अपराधि‍यों को गिरफ्तार किया गया. दबोचे गए अपराधि‍यों में भर्रा बस्ती निवासी मो. जाहिद हुसैन उर्फ मंटू तथा हरला थाना क्षेत्र अंतर्गत आगरडीह निवासी अख्तर हुसैन साह के नाम शामिल है.

सिटी माल के पास पकड़ा गया दोनों अपराधी

पत्रकार वार्ता में पुलिस अधीक्षक कार्तिक एस. ने कहा कि इन दोनों अपराधकर्मियों को चीरा चास स्थित सिटी माल के पास से पकड़ा गया. इनलोगों ने उक्त डकैती कांड में अपराधियों को ठेकेदार का घर दिखाने से लेकर उनके ठहरने की व्यवस्था प्रत्यक्ष रूप से की थी. एसपी ने कहा कि मो. जाहिद हुसैन उर्फ मंटू एक कुख्यात अपराधी रहा है तथा उसके पिता स्व. तालेब अंसारी भी बोकारो के बहुचर्चित मोनिका बलात्कार कांड में आरोपित रहे थे. इन दोनों की गिरफ्तारी के साथ ही ठेकेदार रामसेवक सिंह के घर हुई डकैती में लूटे गए चांदी के जेवरात भी बरामद किया गये हैं.

गिफ्ट देने के बहाने लूट की घटना को दिया अंजाम

इन दोनों अपराधियों ने पुलिस के समक्ष दिए गए अपने स्वीकारोक्ति बयान में बीते 28 मई को सेक्टर-12 थाना क्षेत्र अंतर्गत आयकर विभाग के अधिवक्ता विपिन कुमार सिंह के घर गिफ्ट देने के बहाने दिन-दहाड़े हुए लूटपाट, सिटी थाना क्षेत्र अंतर्गत को-आपरेटिव कालोनी में बीते 2 अगस्त को डाक्टर सरोज के घर घटित लूटपाट की घटनाओं में भी अपनी संलिप्तता स्वीकार की है. इन दोनों घटनाओं में लूटे गए मोबाइल पर एक अल्टो कार (संख्या जेएच 10 के 2634) को भी बरामद किया जा चुका है. इन लोगों ने चास मुफस्सिल थाना क्षेत्र अंतर्गत भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष अम्बिका खवास के घर हुई फायरिंग की घटना में भी अपनी संलिप्तता की जानकारी पुलिस को दी. उक्त गिरफ्तार दोनों अपराधकर्मियों ने यह भी बताया कि लूटे गए दोनों मोबाइल फोन का आईएमइआई नंबर उन्होंने बदलवा दिया था.




जल्‍द होगी अन्‍य अपराधियों की गिरफ्तारी

एसपी ने बताया कि इस प्रकार बोकारो जिला पुलिस ने चास में ठेकेदार रामसेवक सिंह के घर लूटपाट की घटना के साथ-साथ सेक्टर 12 स्थित वकील के घर हुई लूटपाट, को-आपरेटिव कालोनी में डाक्टर के यहां लूटपाट तथा चास मु. थाना क्षेत्र में भाजपा नेता अंबिका खवास के घर फायरिंग की घटना का भी उद्भेदन कर लिया है. उन्होंने कहा कि इन मामलों में शेष बचे अपराधकर्मियों की भी गिरफ्तारी जल्द ही कर ली जाएगी. इसके लिए छापेमारी अभियान लगातार की जा रही है. इस प्रकार पुलिस ने अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश करते हुए कई अपराधियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई है. एसपी ने इसे पुलिस के लिये एक बड़ी ल महत्वपूर्ण सफलता बतायी है.

छापेमारी दल में ये थे शामिल

छापेमारी दल में चास के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी बहामन टूटी, ट्रैफिक एसपी सह साइबर थाना प्रभारी आनंद ज्योति मिंज, सिटी डीएसपी ज्ञानरंजन, सिटी थाना प्रभारी मदन मोहन प्रसाद सिन्हा, बालीडीह थाना प्रभारी सह पुलिस निरीक्षक कमल किशोर, हरला थाना प्रभारी सह पुलिस निरीक्षक नोबेल कुजूर, चास थाना प्रभारी सह पुलिस निरीक्षक प्रमोद पांडेय, पुलिस अवर निरीक्षक जलेश्वर उरांव, सहायक अवर निरीक्षक चुंदा उरांव, बसंत टोप्पो एवं सशस्त्र बल के जवान शामिल थे.

चोरी के मोबाइल का आईएमइआई नंबर बदलने वाले दो दुकानदार गिरफ्तार

चोरी किए गए मोबाइल फोन का आईएमइआई नंबर बदलने का काम करने वाले दो दुकानदारों को पुलिस ने गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई है. सोमवार को चास में ठेकेदार के घर डकैती मामले में गिरफ्तार किए गए कुख्यात अपराधी मो. जाहिद हुसैन उर्फ मंटू तथा अख्तर हुसैन की स्वीकारोक्ति व निशानदेही के आधार पर इस मामले का खुलासा हो सका. साथ ही, दो जालसाज दुकानदारों को गिरफ्तार किया जा सका. उक्त दोनों अपराधियों की निशानदेही पर लूट के दो मोबाइल बरामद किए गए. रेडमी और विवो कंपनी के इन मोबाइल फोन्स का आईएमइआई नंबर पुलिस से बचने के लिए बदल दिया गया था. अपराधियों की स्वीकारोक्ति के आधार पर पुलिस अधीक्षक कार्तिक एस. ने सोमवार देर शाम बताया कि अपराधियों में सेक्टर- 9 बसंती मोड़ में सिद्धेश्वर महतो तथा सेक्टर- 1 राम मंदिर मार्केट स्थित सैयद समीर हुसैन की मोबाइल रिपेयरिंग दुकान पर चोरी के मोबाइल के आईएमईआई नंबर बदलवा डाले थे.

ट्रैफिक डीएसपी के नेतृत्व में हुई छापेमारी

इस जानकारी के आलोक में साइबर थाना प्रभारी सह ट्रैफिक डीएसपी आनंद ज्योति मिंज के नेतृत्व में छापेमारी दल ने सेक्टर-9 बसंती मोड़ से सिद्धेश्वर महतो तथा सेक्टर-1 राम मंदिर से सैयद समीर हुसैन को गिरफ्तार किया. दोनों ने अपने स्वीकारोक्ति बयान में अपना दोष स्वीकार किया. उनके पास से मोबाइल का आईएमइआई नंबर बदलने में प्रयुक्त लैपटॉप तथा बिना किसी कागजात के रखे गए पांच मोबाइल फोन भी बरामद किए गए. छापामारी दल में ट्रैफिक डीएसपी सह साइबर थाना प्रभारी आनंद ज्योति मिंज, सिटी थाना प्रभारी मदन मोहन प्रसाद सिन्हा, पुलिस अवर निरीक्षक प्रेम कुमार रजक एवं सशस्त्र बल के जवान शामिल थे.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat