बोकारो: दो मरीजों की मौत के बाद हुआ हंगामा, मेडिकल सेवाएं ठप

Bokaro sadar hospital death two patients ruckus medical services stalledबोकारो: सदर अस्पताल बोकारो में मंगलवार को चिकित्सीय लापरवाही के कारण दो मरीजों की मौत के बाद परिजनों के द्वारा जमकर हंगामा किया गया. जिसके बाद सिविल सर्जन ने कल एक चिकित्सक पर कारवाई व दो एएनएम का अनुबंध रदद् किया था. वहीं अस्पताल उपाधीक्षक डॉ अर्जुन प्रसाद को शो कॉज किया था.

जिसके बाद आज यानी बुधवार को सदर अस्पताल में इमरजेन्सी को छोड़ ओपीडी सहित सभी मेडिकल सेवाएं ठप कर दी गई हैं. सदर अस्पताल में कल परिजनों द्वारा किए गए हंगामे को लेकर चिकित्साकर्मियों में आक्रोश देखा जा रहा है. चिकित्साकर्मियों ने अपनी सुरक्षा की मांग के साथ-साथ 24 घंटे के अंदर की गई कार्रवाई को वापस लेने की मांग की है.

ये है मामला




बता दें कि मंगलवार को दो महिला मरीजों की मौत कथित तौर पर चिकित्सीय लापरवाही की वजह से हो गई थी. चंदनकियारी के बारकाम निवासी 60 वर्षीय ज्योत्सना देवी और चास कॉलेज के पास दीवानगंज की रहने वाली 24 वर्षीय झानू देवी नामक दो महिलाओं की मौत के बाद उनके आक्रोशित परिजनों ने खूब हो-हल्ला किया. परिजनों ने सभी चिकित्साकर्मियों को निलंबित करने की मांग की. मामला तनावपूर्ण हो जाने के बाद मौके पर पुलिस कर्मी तैनात किए गए.

इन पर हुई कार्रवाई

इन दो मरीजों की मृत्यु में डॉक्टर और एएनएम की लापरवाही रही. इसका सत्यापन स्वयं सिविल सर्जन डॉ सोबन मुर्मू ने किया. उन्होंने लापरवाही के आरोप में अस्पताल के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ हरेंद्र कुमार मिश्रा को स्पष्टीकरण  देते हुए 24 घंटे के भीतर जवाब देने का निर्देश दिया है. इतना ही नहीं उनके विरुद्ध विभागीय कार्रवाई को लेकर स्वास्थ्य सचिव को भी पत्र प्रेषित किया गया है. वहीं दो एएनएम अंजू कुमारी और बैंजों कुमारी का अनुबंध समाप्त कर तत्काल प्रभाव से उन्हें हटा दिया गया है. वहीं अस्पताल उपाधीक्षक डॉ अर्जुन प्रसाद को भी शो कॉज जारी किया था.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat