बोकारो स्टील प्लांट के ऐश पौंड में कभी भी हो सकता है खूनी संघर्ष

सुरेंद्र प्रसाद

बोकारो : बोकारो स्टील प्लांट के ऐश पौंड में ठेकेदारी को लेकर कभी भी खूनी खेल खेला जा सकता है. अगर समय रहते विस्थापित गुट के नेताओं को प्रशासन बीएसएल प्रंबधन के साथ मिलकर नकेल कसने का काम नहीं करता है, तो आने वाले समय में यहां कोई बड़ी घटना घट सकती है. जिस तरह एक गुट ऐश पौंड के काम को प्रभावित करने को लेकर आंदोलनरत था, तो दूसरे गुट के लोगों ने हथियार लहराकर आंदोलन को प्रभावित करने का प्रयास किया. इस दौरान दोनों गुटों के बीच मारपीट की भी घटना हुई. घटना की सूचना पर चास एसडीओ सतीश चंद्र, सिटी डीएसपी ज्ञानरंजन, बीएसएल के अधिकारी और बड़ी संख्या में पुलिस मौके पर पहुंची. मामला हरला थाना इलाके की है.

अधिकारियों के पहुंचने से पहले ही दूसरे गुट के लोग हथियार के साथ फरार होने में सफल रहे. बताते चले कि बीएसएल का ऐश यानि छाई यहां पर डंप होता है और इसके लिए विस्थापित संघ का एक गुट यहां पर ठेकेदारी का कार्य कर रही है. वहीं इसी से अलग हुए एक नया विस्थापित गुट भी ठेकेदारी को लेकर आज से ऐश पौंड के काम को बाधित करने को लेकर आंदोलन करने वाला था. इसकी जानकारी कार्य कर रहे पहले गुट के विस्थापित नेताओं को लगी तो वे आपे से बाहर हो गए और फिर अपने सहयोगियों के साथ ऐश पौंड पहुंचे. फिर हवा में हथियार लहराया और दोनों गुटों में जमकर मारपीट हुई.




बताते चले कि विस्थापितों के कई गुट ऐश पौंड में काम लेने को लेकर बराबर आंदोलन करते आ रहे हैं. इसको लेकर न सिर्फ बीएसएल प्रंबधन बल्कि जिला प्रशासन के साथ पुलिस प्रशासन भी काफी परेशान नजर आ रही है. वहीं घटना की सूचना मिलते ही समय रहते जिला प्रशासन के अधिकारी और पुलिस के अधिकारी पहुंचे नहीं तो बड़ी घटना से इंकार नहीं किया जा सकता. सिटी डीएसपी ज्ञानरंजन ने एक गुट के आवेदन पर मामला दर्ज कर कारवाई की बात कही. वहीं एसडीओ चास सतीश चंद्र ने कहा कि दो गुटों मे ठेकेदारी को लेकर ही यह पूरा विवाद हो रहा है और इस मामले को त्रिपक्षीय वार्ता कर सुलझाने की बात कही. कहा कि ऐसे किसी को भी कानून हाथ मे नहीं लेने दिया जाएगा.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat