बोकारो : सामूहिक दुष्कर्म के तीन आरोपियों को 20 साल की सजा

दुष्कर्मबोकारो : बोकारो के विशेष न्यायाधीश (पोक्सो) रंजीत कुमार की अदालत ने बुधवार को सामूहिक दुष्कर्म के एक मामले में सुनवाई करते हुए तीन आरोपियों को 20-20 वर्ष के सश्रम कारावास तथा 10 हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई. सजायाफ्ता अभियुक्तों में बारी को-आपरेटिव मोड़ निवासी चंदन, एलएच मोड़ निवासी छोटे तथा मनमोहन को आपरेटिव निवासी अमित के नाम शामिल हैं. घटना बीते 8 अप्रैल, 2016 को सेक्टर- 12 थाना क्षेत्र अंतर्गत बारी को-आपरेटिव गरगा पुल एवं शारदा अस्पताल के पीछे एक खदान में हुई थी. सेक्टर-12 थाना कांड संख्या 29 16 तथा पोक्सो कांड संख्या 30 16 के तहत दर्ज मामले की जानकारी देते हुए विशेष लोक अभियोजक (पोक्सो) संजय कुमार झा ने बताया कि उक्त तीनों अभियुक्तों ने 17 वर्षीय पीड़िता को अपनी हवस का शिकार बनाया था.




क्या था मामला

बीते 8 अप्रैल 2016 को एलएच मोड़ निवासी पीड़िता अपने घर से दूध लाने के लिए निकली थी. रास्ते में बारी को-आपरेटिव गरगा पुल पर वह जैसे ही पहुंची कि एक मोटरसाइकिल पर सवार दो युवक वहां आए और उसे जबरन अपने साथ बैठा कर शारदा अस्पताल के पीछे खदान में लेकर चले गए. वहां उनलोगों ने पीड़िता को निर्वस्त्र कर उसके साथ मारपीट की. उसकी तस्वीर खींच ली और इसके नाम पर ब्लैकमेल करते हुए उसके साथ तीन लोगों ने दुष्कर्म किया. रात को नौ बजे वह बदहवास अपने घर लौटी तथा परिजनों को मामले की जानकारी दी. 10 अप्रैल 2016 को थाने में इस बाबत प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी. अदालत ने इस मामले में बीते 11 जुलाई को तीनों आरोपियों को दोषी करार दिया. सजायाफ्ता अभियुक्तों द्वारा दिए जाने वाले जुर्माना की राशि पीड़िता को दी जाएगी. इसके अलावा जिला विधिक सेवा प्राधिकार (डालसा) को भी पीड़िता को मुआवजा दिलाने हेतु आदेशित किया गया है.





WhatsApp chat Live Chat