जमशेदपुर के साकची की सड़क पर अतिक्रमणकारियों का कब्‍जा, राहगीरों का चलना दुभर

trafficजमशेदपुर : झारखंड की औद्योगिक राजधानी कहा जाने वाला लौहनगरी जमशेदपुर में सड़कों पर वाहनों और बढ़ते जनसंख्या को लेकर प्रमुख सड़कों को चौड़ीकरण करने का कार्य निरंतर जारी है, लेकिन यातायात के लिहाज से सबसे व्यस्त सड़कों में शुमार मुख्य व्यवसायी क्षेत्र साकची को पूर्वी विधानसभा क्षेत्र से जोड़ने वाली स्ट्रेट माइल रोड पर जाम की स्थिति हमेशा बनी रहती है. जिससे रागहीरों का चलना दुभर हो जाता है.

 

लोगों के छूट जाते हैं पसीने

जमशेदपुर शहर को दो हिस्सों में बांटने वाली स्ट्रेट माइल रोड सबसे व्‍यस्‍त जगह है. शहर के सबसे व्यस्त व्यवसायिक क्षेत्र साकची बाजार है. इसके बीचों-बीच हो कर पूर्वी विधानसभा क्षेत्र को जोड़ती है. यहां से गुजरती डेढ़ किलोमीटर सड़क के फासले को तय करने में लोगों के पसीने छूट जाते हैं. यहां की सड़क पर फुटपाथ दुकान, वाहनों की पार्किंग, लावारिश पशुओं का जमावड़ा और बड़े पैमाने पर अतिक्रमण के होने से हमेशा जाम की स्थिति बनी रहती है. शहर के बड़े हिस्से को जोड़ती यह मुख्य सड़क सिदगोड़ा, एग्रिको, बारीडीह और बिरसानगर के अलावा अन्य क्षेत्रों में निवास कर रहे लाखों लोगों के आने-जाने की प्रमुख सड़क हैं. लेकिन इसकी हालत यह है कि लोग यहां रेंगते हुए अपना सफर करते हैं.




 

यातायात व्‍यवस्‍था सुदृढ़ करना सबसे बड़ी चुनौती : पदाधिकारी

स्थानीय निकाय के विशेष पदाधिकारी ने कहा कि शहर के लिए यहां की यातायात व्यवस्था सुदृढ़ करना सबसे बड़ी चुनौती है. समस्या गम्भीर है, लिहाजा स्थानीय निकाय द्वारा व्यवस्था में सुधार को लेकर पार्किंग, रेड जोन और वैकल्पिक व्यवस्था करने का पहल किया जा रहा है.

राहगीरों को वर्षों से है इंतजार

ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए आए दिन अभियान चलाया जता है, लेकिन नतीजा कुछ भी नहीं निकलता है. बहरहाल, स्थानीय निकाय द्वारा व्यवस्था में सुधार को लेकर एक बार फिर से दावे किये जा रहे हैं. हकीकत यह है कि पिछले कई दशकों से यहां से गुजरने वाले वाहन चालक और राहगीरों को इंतजार है कि एक न एक दिन यहां की सड़क पर भी सरपट वाहन दौड़ेंगे. हालांकि हालात को देख कर कहा जा सकता है कि अभी वह दिन दूर है.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat