BREAKING

मुख्‍यमंत्री ने की समीक्षा बैठक, कहा- राजधानी रांची का विकास पूरे देश में बने एक रोल मॉडल

रांची : मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि शहर के विकास के लिए आनेवाले 20-25 वर्ष की जरूरतों के अनुसार प्लानिंग करें. डीपीआर और फाइलों में मामले को न उलझाये रखें. राज्य के शहर हमारे आन बान और शान हैं. बाहर से आने वालों में शहरों से राज्य की छवि बनती है इसलिए विशेष प्लानिंग और इसके समर्पित क्रियान्वयन की आवश्यकता है. राज्य की राजधानी रांची का विकास इस रूप में हो कि पूरे देश में एक रोल मॉडल बन सके. मुख्यमंत्री ने उक्त बातें झारखंड मंत्रालय में शहरी विकास व हाउसिंग विभाग के कार्यों की समीक्षा के दौरान कहीं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि पैसे की कमी नहीं है, आवश्यकता है सही प्लानिंग की. पूरा रोड मैप तैयार किये बिना दिशाहीन कार्रवाई से कामों में देरी होती है. बरसात तक सभी योजनाओं की कागजी कार्रवाई को पूरा कर, बरसात के बाद धरातल पर काम शुरू करें. मुख्यमंत्री ने कहा कि रांची नगर में 20 फीट से चौड़ी सड़क का निर्माण केवल पथ निर्माण विभाग ही करेगा. नगर विकास विभाग यह कार्य पथ निर्माण विभाग को सौंप देगा.

रांची में आईएसबीटी और ट्रांसपोर्ट नगर जल्द बनेगा

मुख्यमंत्री ने सुकुरहुटु में 40 एकड़ जमीन पर ट्रांसपोर्ट नगर बनाने तथा 25 एकड़ में बस टर्मिनल बनाने की प्रक्रिया तेज करने का निर्देश दिया. बड़ा तालाब के पास उद्योग विभाग के खाली पड़ी जमीन पर अरबन हाट बनाया जायेगा. उन्होंने एक माह का समय देते हुए कहा कि इनकी प्रगति समीक्षा फिर से करेंगे.

दादा-दादी पार्क का निर्माण

मुख्यमंत्री ने राज्य में बन रहे दादा-दादी पार्क का निर्माण के बाद स्थानीय वृद्ध लोगों से उद्घाटन कराने को कहा. मुख्यमंत्री ने कहा कि बुजूर्गों के लिए प्रत्येक शहर में पार्क आदि की व्यवस्था जल्द से जल्द सुनिश्चित की जाए.

वार्ड समिति बनाने का निर्देश

प्रत्यके शहर में लोगों की सुविधा के लिए वार्ड समिति बनाने का निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इसी के माध्यम से आम शहरी अपना बिजली बिल, जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र नगर निगम टैक्स आदि जमा करने का कार्य करेंगे. इसमें आईटी का ज्यादा से ज्यादा उपयोग किया जायेगा, ताकि भ्रष्टाचार पर लगाम लग सके. वार्ड समिति में उस वार्ड के प्रतिष्ठित लोगों की 11 सदस्यीय टीम बनायी जायेगी. इसमें दो महिलाएं भी रहेंगी. टीम में अनुसूचित जाति-जनजाति को भी प्रतिनिधित्व मिलेगा. उस वार्ड के छोटे-छोटे काम भी इसी समिति के माध्यम से कराया जायेगा. अपना वार्ड अपना काम के नारे के साथ इसकी शुरुआत की जायेगी. रांची से इसकी शुरूआत होगी.

स्मार्ट सिटी के सभी पहलुओं पर समानान्तर कार्य शुरू हो

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्मार्ट सिटी के निर्माण में भी सम्पूर्ण प्लानिंग और रोडमैप के साथ एक्शन प्लान तैयार कर कार्रवाई करें. केवल भवन बनाने में ध्यान न दें. पहले क्षेत्र में आधारभूत संरचना पर जैसे अंडरग्राउंड पाइपलाइन, केबलिंग, गैस पाइपलाइन, सड़क आदि का निर्माण साथ-साथ करते चलें. जो स्थान जिस उद्देश्य के लिए चिन्हित हैं, उसके एलॉटमेंट का काम भी शुरू कर दें. रांची में नगर परिवहन के लिए सिटी बस के रूप में इलेक्ट्रीक बस चलाने पर भी जल्द ही विचार कर प्रस्ताव तैयार करने को कहा.




रांची में शुरू होगा नाईट मार्केट

मुख्यमंत्री ने कहा कि रांची में जयपाल सिंह स्टेडियम में नाइट मार्केट शुरू किया जाए. इससे रोजगार को बढ़ावा मिलेगा तथा शहर के लोगों को हर समय बाजार उपलब्ध होगा. रात्रि में मार्केट के बाद सुबह तीन बजे तक उस पूरे परिसर को ऐसा बना दिया जाएगा जैसे वहां कुछ था ही नहीं. साफ-सफाई पर पूरा ध्यान रहेगा. परिसर में खेल मैदान के चारों तरफ बाजार लगायी जाएगी जो अस्थायी होगी और कुछ घंटों में नट वोल्ट से तैयार कर दी जाएगी. यहां पक्का निर्माण नहीं होगा. पारदर्शी तरीके से स्थान का एलॉटमेंट किया जायेगा. यहां से आनेवाले राजस्व से परिसर का विकास किया जायेगा.

अंडरग्राउंड संप बनाकर पानी की सप्लाई

मुख्यमंत्री ने कहा कि पानी की टंकी का कंसेप्ट पुराना हो गया है. शहर में पानी टंकी के निर्माण के बदले अंडरग्राउंड संप बनाकर पानी की सप्लाई करें. इसमें लागत भी कम आयेगी और शहर भी अच्छा दिखेगा. उन्होंने कहा कि जिन राज्यों में इस पर बेहतर कार्य हुआ है वहां जाकर अध्ययन करें तथा उसे लागू करें.

कूड़े से तैयार होगी बिजली

मुख्यमंत्री ने कहा कि जहां कूड़ा जमा होता है उससे परेशानी बढ़ती है. रांची में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के तहत बनानेवाले वेस्ट टू एनर्जी प्लांट को जबलपुर की तर्ज पर विकसित करने का निर्देश दिया.

नक्शा पास करने में ना हो विलम्ब

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी व्यक्ति को नक्शा पास करने के लिए ना दौड़ाएं. अगर अद्यतन रसीद और म्यूटेशन के साथ अपलाई किया जाता है तो तय समय सीमा में नक्शा पास करें. अगर कोई गड़बड़ी अथवा भ्रष्टाचार की शिकायत पायी जाती है तो कड़ी कार्रवाई होगी.

छोटे प्लाट पर नक्शा में विचलन का वन टाईम सेटेलमेंट के लिए नियम बनाएं

मुख्यमंत्री ने छोटे प्लाट पर नक्शा में विचलन का वन टाईम सेटेलमेंट के लिए नियम बनाने पर जोर दिया. किन्तु इससे रियल स्टेट, बिल्डर को कोई विचलन का लाइसेंस ना मिले. इस संबंध में ओड़िसा सरकार तथा अन्य राज्यों का अध्ययन करने का भी निदेश मुख्यमंत्री ने दिया.

जल्द तैयार हो सिवरेज प्लांट

बैठक में यह जानकारी दी गई कि आदित्यपुर में अक्टूबर 2019 तक सिवरेज प्लांट बनकर तैयार हो जायेगा. इसी प्रकार देवघर, गिरिडीह, हजारीबाग व चास में सेप्टेज मैनेजमेंट प्लांट मार्च 2019 तक तैयार हो जायेगा. राज्य में 35 पार्क बनाये जाने हैं, इनमें से छह का निर्माण पूरा हो चुका है. एडीबी से मिलनेवाली 4350 करोड़ रुपये की राशि से रांची में एरिया डेवलेपमेंट का काम किया जायेगा. इसमें एक जोन को चुन कर वहां आनेवाले 50 वर्ष के लिए सभी जरूरी चीजें बनायी जायेंगी. इसमें सिवरेज, ड्रेनेज, अंडरग्राउंड केबलिंग, पाइपलाइन, गैस पाइपलाइन आदि का निर्माण या उनके लिए स्थान सुरक्षित किया जायेगा.

हाउसिंग बोर्ड की जमीन पर बनेगा पांच सितारा होटल

बैठक में सहजानंद चौक स्थित हाउसिंग बोर्ड की जमीन पर पांच सितारा होटल बनाये बनाए जाने संबंधी प्रस्ताव पर भी जल्द कार्रवाई करने का निदेश दिया गया. हाउसिंग बोर्ड की जमीन का पारदर्शी तरीके से एलॉटमेंट का निर्देश भी दिया गया. हाउसिंग बोर्ड राज्य भर में खाली जमीन पर गरीबों के लिए घर बनाएं तथा बेरोजगारों को दुकान मुहैया कराए.

समीक्षा बैठक में नगर विकास मंत्री सीपी सिंह, आवास बोर्ड के अध्यक्ष जानकी यादव, मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी, विकास आयुक्त डीके तिवारी, विभागीय सचिव अजय कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ. सुनील कुमार वर्णवाल समेत अन्य वरीय अधिकारी उपस्थित थे.



WhatsApp chat Live Chat