BREAKING

चीन ने बनाया चिड़िया ड्रोन “डव”, रडार की पकड़ से भी रहेगा बाहर

शिनजियांग : चीन अपनी सुरक्षा व्यवस्था को लेकर काफी चौकस रहता है. तकनीक में हमेशा आगे रहने वाले चीन ने अपने दुश्मनों की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए एक चिड़िया बनाई है. चौकिये मत, यह बात बिल्कुल सही है. दरअसल, चीन ने चिड़िया की तरह दिखने वाला एक ड्रोन तैयार किया है, जिसका वजन सिर्फ 200 ग्राम है. चीन ने इस ड्रोन का नाम डव रखा है. हाल ही में चीन ने सीमा पर ऐसा एक ड्रोन तैनात किया है. ये भारत के लिए एक बड़ी चिंता का विषय हो सकता है.

भारतीय सीमा से सटे प्रांत में सबसे ज्यादा हो रहा प्रयोग

चिड़िया सा दिखने वाला यह ड्रोन “डव” 30 मिनट तक 40 किलोमीटर की रफ्तार से लगातार उड़ सकता है. चीन के एक अखबार की खबर के अनुसार देश के शिनजियांग प्रांत में इस खास तकनीक का सबसे अधिक प्रयोग किया जा रहा है. इसी प्रांत की सीमा भारत से सबसे ज्यादा लगती है. तकनीक से तैयार किए गए इस पक्षी का डव कोड नेम रखा गया है. इस पक्षीनुमा चीज की खासियत है कि ये ड्रोन रडार की पकड़ में भी नहीं आएंगे. शिनजियांग प्रांत की सीमा सिर्फ भारत से ही नहीं बल्कि कजाखस्तान, मंगोलिया, किर्गिस्तान, अफगानिस्तान, ताजिकिस्तान, रूस और पाकिस्तान की सीमा भी लगती है. इन जगहों को आतंक के गढ़ के रूप में देखा जाता है. यही वजह है कि चीन की सरकार इन जगहों पर खास निगरानी का काम कर रही है.




डव की हरकतें 90% असली पक्षियों जैसी

‘डव’ किसी वास्तविक पक्षी की तरह हवा में गोते भी लगा सकता है. इसकी हरकतें 90% असली पक्षियों जैसी हैं. इसकी आवाज इतनी कम है कि इसके नकली होने का पता आसानी से नहीं लगाया जा सकता. इसे सीमा के नजदीक तैनात करने से पहले लगभग 2000 बार चेक किया गया. इस प्रोजेक्ट से जुड़े एक शख्स ने बताया कि इसे बनाने में कुल 1.54 अरब डॉलर यानी करीब 105 अरब रुपये की लागत लगी है.



WhatsApp chat Live Chat