सीएम ने की राज्य में लंबित रेल परियोजनाओं की समीक्षा, भूमि अधिग्रहण का मुद्दा भी छाया रहा

लंबितरांची : झारखंड में लंबित रेल परियोजनाओं को लेकर एक महत्वपूर्ण बैठक सीएम रघुवर दास के आवास पर संपन्न हुई. बैठक में दक्षिण पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक पूर्णेन्दु एस मिश्रा विशेष रूप से उपस्थित रहे. इस दौरान रेल परियोजनाओं को गति देने के लिये राज्य सरकार और रेलवे के बीच एक कारपोरेशन के गठन का प्रस्ताव भी लाया गया.

झारखंड में लंबित रेल परियोजनाओं को गति देने के लिये महाराष्ट्र के तर्ज पर राज्य सरकार और रेलवे के बीच एक कारपोरेशन का गठन किया जाएगा. सीएम रघुवर दास के आवास पर संपन्न महत्वपूर्ण बैठक में राज्य में लंबित रेल परियोजनाओं की समीक्षा की गई. इस दौरान भूमि अधिग्रहण का मुद्दा भी छाया रहा. समय पर भूमि अधिग्रहण नहीं होने से परियोजनाओं में लेटलतीफी को चिन्हित किया गया.

दक्षिण पूर्व रेलवे के साथ हुई इस बैठक में निम्नलिखित परियोजनाओं पर चर्चा हुई.

# रांची के चुटिया में आरओबी




# नामकुम और कांड्रा आरओबी

# केतारी बागान आरओबी

# धनबाद स्थित गया पुल समेत सभी रेल ओवर ब्रिज

# रांची – नई दिल्ली राजधानी और एलटीटी सुपरफास्ट को प्रतिदिन करने

# पूरी – नई दिल्ली पुरुषोत्तम एक्सप्रेस को जयपुर तक करने

# रांची – लखनऊ – देहरादून के लिये नई ट्रेन सहित ट्रेनों का फेरा बढ़ाने

रेल प्रबंधन ने लंबित परियोजनाओं को समय अवधि के अंदर पूरा करने पर जोर दिया है. दक्षिण पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक ने राज्य सरकार से पूरा सहयोग मिलने की बात स्वीकार की है. समीक्षा बैठक के बाद लंबित रेल परियोजनाओं के काम में गति मिलने का दावा किया जा रहा है.

झारखंड में लंबित रेल परियोजनाओं का मुद्दा हमेशा ही सुर्खियों में रहा है. इस वक्त भी राज्य में कई रेल परियोजनाएं या तो लंबित है या उनके कार्य की गति इतनी धीमी है, कि वो कब पूरी होगी ये कहना मुश्किल है. ऐसे में ये समीक्षा बैठक कितनी कारगर साबित होती है, ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat