जब दुल्हन के जोड़े में हुआ गौमाता का अंतिम संस्कार, उमड़ी भीड़

cow as bride राजकोट: गौमाता के लिए राजकोट के गोंडल तहसील के वाछरा गांव के युवाओं में काफी स्नेह है. शायद इस कारण ही जब यहां गौमाता का निधन हुआ, तो उन्हें दुल्हन की तरह सजाकर विदा किया गया. आगे पढ़ें पूरी खबर…




जानकारी के मुताबिक़, इस गांव में 2003 में जय श्री वाछरा दादा गौशाला चैरिटेबल ट्रस्ट बनाया गया था. इस गौशाला में आई पहली गाय का निधन हो गया. इससे गौसेवकों में शोक छा गया. इस कारण सभी ने तय किया कि गौ माता का अंतिम संस्कार दुल्हन के भेष में किया जाएगा.

इसकी फोटो तेजी से सोशल साइट्स पर वायरल हो रही है. पहले गौमाता का श्रृंगार किया गया. इसके बाद गौशाला में ही जेसीबी के द्वारा किए गए 7 फीट के गड्ढे में उन्हें समाधि दी गई.

गौमाता के अंतिम संस्कार पर गौशाला की सभी गायों को हरी घास के साथ मकई परोसी गई. गौमाता के अंतिम संस्कार की तस्वीरों ने गौप्रेमियों को भावुक कर दिया.





WhatsApp chat Live Chat