रिम्स की सुरक्षा भगवान भरोसे, दुबारा खिड़की काट फरार हुआ कैदी

criminal ran away from window of rims hospitalरांची: राजधानी रिम्स में ही झारखण्ड के कैदियों को इलाज के लिए लाया जाता है. इसमें कुख्यात अपराधी तक शामिल होते हैं. ऐसे में रिम्स प्रशासन के साथ पुलिस को भी सतर्कता बरतने की जरुरत होती है. लेकिन ऐसा कुछ धरातल पर दिखाई नहीं देता. शनिवार को रिम्स से इलाजरत कैदी बुधराम उरांव कैदी वार्ड से दोबारा फरार हो गया. कैदी ने पुलिस के आंखों में धूल झोंक दी और रिम्स के सुरक्षा की  पोल खोल कर रख दी.

रांची: अब मोबाइल से करें ई-रिक्शा बुक, शुरू हुई रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

रांची के रिम्स से कैदियों के भागने का सिलसिला जारी है. इस घटना की शिकायत रांची के एसएसपी अनीस गुप्ता को मिली, जिसके बाद एसएसपी ने रांची के सभी थाना को फरार कैदी के हुलिए के साथ पुलिस को अलर्ट किया है. रांची एसएसपी ने दावा किया है कि फरार कैदी जल्द पुलिस के गिरफ्त में आ जाएगा. साथ ही रिम्स के कैदी वार्ड की सुरक्षा का निरक्षण किया जायेगा. एसएसपी ने बताया कि जो कमियां है उसे जल्द ही दूर किया जाएगा.




रांची: सिर्फ 3 फ्लोर की ली थी इजाजत, लेकिन बनाया 4 फ्लोर, हुआ सील

बता दें कि कैदी बुधराम इससे पहले भी मार्च के महीने में डॉ आर एस शर्मा के यूनिट सर्जरी वार्ड से बड़ी ही आसानी से नाटकीय अंदाज में भाग निकला था. उस समय कैदी की पत्नी ने उसका सहयोग किया था. मगर शायद सुरक्षाकर्मी को इस घटना ने कुछ सीख नही मिली. इसलिए दोबारा बुधराम वार्ड से लोहे की मोटी सलाखों को काट कर आसानी से फरार हो गया. इसकी पुलिस को भनक तक नही लगी. यह घटना और भी बड़ी हो जाती क्योंकि अभी फिलहाल रिम्स में 11 कैदियों के इलाज चल रहा है. मगर खिड़की के लोहे के कटने की सूचना अन्य कैदियों को नही मिल पाई क्योंकि फरार कैदी ने खिड़की को पर्दे से ढक दिया था. बुधराम पर हत्या का मामला चल रहा है.

रांची: अशोकनगर के घरों में चल रहे कारोबार होंगे बंद, 43 को मिला नोटिस





WhatsApp chat Live Chat