मनरेगा योजनाओं की डीसी ने की समीक्षा, वर्तमान वित्त वर्ष के लक्ष्य को पूरा करने का निर्देश

समीक्षा बैठकगुमला : विकास भवन के सभागार में मनरेगा द्वारा संचालित योजनाओं को लेकर गुरुवार को समीक्षा बैठक की गई. बैठक में मनरेगा द्वारा संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन की अद्यतन स्थिति, प्रतिदिन का प्रतिवेदन देने, अम्बेडकर योजना, आधार सीडिंग, जियो टैगिंग, योजना का दीवाल लेखन करने, मनरेगा कर्मी, रोजगार सेवक कार्यरत हैं या नहीं आदि विषयों पर चर्चा की गई.

इसे भी पढ़ें :करंट लगने से 7 पशुओं की मौत, शीघ्र मुआवजा नहीं मिलने पर आत्‍महत्‍या करेंगे किसान !

आवास निर्माण कार्य में तेजी लाने का निर्देश

बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त शशि रंजन ने सभी मनरेगा पदाधिकारियों एवं कर्मियों से वर्तमान वित्त वर्ष के लक्ष्य को हर हाल में पूरा करने का निर्देश दिया. उन्होंने प्रत्येक दिन का प्रतिवेदन देने के साथ ही आवास निर्माण कार्य में तेजी लाने एवं उनका आधार सीडिंग करने, जियो टैगिंग व एमआईएस इंट्री करने का निर्देश सभी मनरेगा कर्मियों एवं पदाधिकारियों को दिया. उन्होंने कहा कि गुमला जिला में मनरेगा का कार्य संतोषजनक नहीं है, जिस कारण राज्य में मनरेगा के कार्य में गुमला काफी पीछे है. श्री रंजन ने 2018-19 के 4 हजार से अधिक आवास निर्माण के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए लाभुकों का चयन कर जल्द से जल्द उनका रजिस्ट्रेशन करने को कहा है, ताकि निर्धारित लक्ष्य को समय पर पूरा किया जा सके.




इसे भी पढ़ें :अवैध शराब की फैक्ट्री में तब्दील होता नक्सल प्रभावित प्रखंड पेशरार

इंदिरा आवास से संबंधित सेल का गठन करने का निर्देश

उन्होंने अम्बेडकर विधवा आवास योजना के तहत लाभुकों का चयन कर रजिस्ट्रेशन एवं उनका जियो टैगिंग कर जल्द से जल्द राशि का भुगतान करने का निर्देश सभी संबंधित पदाधिकारियों को दिया. इसके अलावे उपायुक्त ने इंदिरा आवास से संबंधित सेल का गठन करने का निर्देश दिया, ताकि प्रतिदिन की कार्यप्रगति की समीक्षा की जा सके. प्रधानमंत्री आवास निर्माण के साथ ही शौचालय के निर्माण का भी श्री रंजन ने प्रतिवेदन देने का निर्देश दिया है. साथ ही उन्होंने मनरेगा द्वारा संचालित सभी योजनाओं का दीवाल लेखन कराने DC ने निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि फण्ड रिलीज नहीं हो रहा है, क्योंकि मनरेगा योजना द्वारा संचालित कई योजनाएं पेंडिंग पड़ी हुई है.

इसे भी पढ़ें :बोकारो : मानव तस्करी की आशंका में एलेप्पी एक्सप्रेस से संदिग्ध हालत में उतारे गए 88 बच्चे

बैठक में ये अधिकारी रहे मौजूद

बैठक में उपायुक्त के अलावे उप विकास आयुक्त नागेन्द्र कुमार सिन्हा, डीआरडीए निदेशक मुस्तकीम अंसारी, डायरेक्टर नेप नयनतारा केरकेट्टा, सभी प्रखंडों के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, सीएफटी के सदस्य, सभी प्रखण्ड के ब्लॉक को-ऑर्डिनेटर, मनरेगा कर्मी एवं अन्य मौजूद थे.





WhatsApp chat Live Chat