वज्रपात से दो की मौत, गांव में पसरा मातम

deogharदेवघर : मोहनपुर प्रखंड के बसडीहा गांव में रविवार को हुए वज्रपात में दो लोगों की मौत हो गई. मरने वालों में एक मुखिया के ससुर हैं. सोमवार को गांव में दुबे बाबा की वार्षिक पूजा होनी है. उसको लेकर भक्तिमय माहौल बना हुआ था लेकिन वज्रपात से दो ग्रामीणों की मौत के बाद गांव में मातम पसर गया है.

बसडीहा गांव निवासी किसान गणेश कापरी (62) और नरेश मंडल (70) खेत में काम कर रहे थे. उसी समय तेज बारिश के साथ वज्रपात हुआ और दोनों बुरी तरह से झुलस गए. गणेश कापरी मोरने पंचायत की मुखिया सुनीता कुमारी के ससुर हैं. बताया जाता है कि वह कैंसर के मरीज थे. इलाज के बाद वह स्वस्थ हो गए थे.




देर शाम तक जब दोनों लोग घर नहीं आए तो परिजनों ने खोजबीन शुरू की, तभी खेत में बनी झोपड़ी में शव मिले. झुलसे हुए शरीर देखने के बाद जानकारी हुई कि उनकी मौत वज्रपात से हुई है. आशंका जतायी जा रही है कि मौसम खराब होने के बाद दोनों बचने के लिए झोपड़ी में गए होंगे.

घटना की जानकारी मिलते ही ग्रामीणों की भीड़ जुट गयी. दोनों शवों को खेत से घर लाया गया. रात होने के कारण पोस्टमार्टम के लिए शवों को देवघर नहीं ले जाया जा सका. सीओ राकेश तिवारी ने भी बताया कि दो ग्रामीणों की वज्रपात से मौत की सूचना के बाद थाना प्रभारी को शवों का पोस्टमार्टम कराने को कहा गया है. सरकार के नियमों के अनुसार पीड़ित परिवारों को चार-चार लाख रुपए बतौर मुआवजा दिलाने की पहल की जाएगी.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat