जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग को लेकर विश्व सनातन सेना व हिंदू जागरण मंच ने दिया धरना, राज्‍यपाल को सौंपा ज्ञापन

रांची : विश्व सनातन सेना व हिंदू जागरण मंच के संयुक्त तत्वावधान में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की मांग को लेकर राजभवन के समीप एक दिवसीय उपावस व धरना-प्रदर्शन किया गया. उपवास धरना प्रदर्शन में विश्व सनातन सेना झारखंड प्रदेश की संयोजिका दीप्ति अग्रवाल सह संयोजक तुषार विजयवर्गीय, हिंदू जागरण मंच के झारखंड बिहार क्षेत्रीय संघठन मंत्री सह संघ के वरिष्ठ प्रचारक डॉ. सुमन कुमार, संरक्षक प्रिंस आजमानी, विश्व हिंदू परिषद के संत प्रमुख सह मार्गदर्शक मंडल डॉ. स्वामी दिव्यानंद जी महाराज, हिंदू जागरण मंच के प्रदेश अध्यक्ष ऋषि सहदेव, हिंदू जागरण मंच रांची महानगर के महामंत्री राकेश कर्ण, राम भरत मिलाप समिति के अध्यक्ष रोहित शारदा शामिल हुए.

बढ़ती जनसंख्या पर जताई चिंता

उपवास धरना कार्यक्रम में सभी सनातन समाज के लोगों ने एक स्वर में कठोर जनसंख्या नियत्रंण कानून बनाने को लेकर केंद्र सरकार से मांग की. उपवास धरना को संबोधित करते हुए विश्व सनातन सेना की झारखण्ड संयोजिका दीप्ति अग्रवाल ने कहा कि जनसंख्या से भारत त्रस्त है. बढ़ती जनसंख्या की वजह से देश में संसाधनों में काफी बुरा असर पड़ रहा है. जनसंख्या एक आपदा की तरह है. इसे अभी नहीं रोका गया तो विश्व स्तर में इसका खामियाजा भारत को भुगतना पड़ सकता है. उन्होंने केंद्र सरकार से मांग किया है कि जल्द से जल्द राष्ट्रीय कानून बनाकर नागरिकों पर लागू किया जाए ताकि जनसंख्या नियंत्रित हो सके.

बच्चे पैदा करना ही समस्या का समाधान नहीं

हिंदू जागरण मंच के झारखंड प्रदेश अध्यक्ष ऋषि सहदेव ने कहा कि जिस कदर एक वर्ग बच्चे पैदा करने की नीति अपनायें हुए है यह चिंतनीय है. बच्चे पैदा करना ही समस्या का समाधान नहीं हो सकता, जनसंख्या किसी भी राष्ट्र के लिए अमूल्य पूंजी होती है, जो वस्तुओं व सेवाओं का उत्पादन करती है, वितरण करती है और उपभोग भी करती है. जनसंख्या देश के आर्थिक विकास का संवर्द्धन करती है. इसीलिए जनसंख्या को किसी भी देश के साधन और साध्य का दर्जा दिया जाता है.




घुसपैठ को रोकना जरूरी

वहीं सह संयोजक तुषार विजयवर्गीय ने कहा कि‍ आज के दौर में यह अतिआवश्यक हो गया है जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाना जनसंख्या का मूल कारण घुसपैठ भी है इससे भी रोकना होगा. जनसंख्या की वजह से लगातार देश की साख को चोट पहुंचते जा रहा है. तुषार विजयवर्गीय ने आगे कहा कि बढ़ती जनसंख्या की वजह से आवश्यकता अधिक होते जा रही है और साधन कम. जनसंख्या की वजह से देश के नौकरी के अवसर पर भी कुठाराघात हो रहा है. धरना समाप्त करने के बाद विश्व सनातन सेना ने सभी सनातन संस्था के प्रमुख के साथ राज्यपाल के परहिर को ज्ञापन सौंपा.

उपवास धरना कार्यक्रम को सफल बनाने में तारा प्रकाश, प्रिंस आजमानी, अरविंद साहू, धनंजय प्रसाद, राजीव कुमार, रजनी देवी, ककोली दास, तेजेंदर सिंह, दीपम बनर्जी, शशि काला, लवलित सिंह, पूनम सिंह, निशान्त चौहान, अनमोल सिंह, धनंजय कुमार, रॉकी गोप, चंदन वर्मा, पंकज कुमार, हीरा कुमार, सागर कुमार, शंकर यादव, राजेश कुमार, सुनील कुमार, नीरज साहू, संजय साहू, मेघनाथ महतो, रोहित सरला, धीरज महतो, राजीव मंडल, विनय सिंह, रोहित प्रसाद, बादल कुमार, दीपक मांझी, हिमाचल साहू, संतोष जयसवाल, धीरेंद्र कुमार, अभिषेक कुमार, दीपक कुमार, शुभम राज, गोपाल आर्यन, अंकित कुमार, सुरेंद्र बड़ाईक, मखन बड़ाईक, मनेजर बड़ाईक, लालकिशोर बड़ाईक, गणेश बड़ाईक, नीलेश बड़ाईक, प्रभु लाल पटेल, महेंद्र गिरी, अमन वर्मा, अर्जुन जयसवाल, चंदन मिंज, बिनोद कुमार, ओम प्रकाश, अजनेश सिंह, राहुल केसरी, दीपक कुमार, राजन, सुरेंद्र प्रसाद साहू सहित अन्य सनातन कार्यकताओं का सरहानीय योगदान रहा.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat