NEWS11

Jharkhand Khunti

डीजीपी पहुंचे खूंटी, पुलिस अधिकारियों संग की घंटों बैठक, मगर घटनास्‍थल पर नहीं जा सके, जानिये क्‍यों…

डीजीपी डीके पांडेय

डीजीपी डीके पांडेयखूंटी : जिले के कोचांग में नुक्कड़ नाटक मंडली की पांच लड़कियों के साथ गैंगरेप मामले को लेकर डीजीपी डीके पांडेय रविवार को खूंटी पहुंचे. डीआईजी और आईजी भी उनके साथ थे. मामले को लेकर पुलिस अधिकारियों ने काफी देर तक बैठक की. घटनास्‍थल पत्‍थलगड़ी क्षेत्र से घिरा होने के कारण पुलिस रविवार को भी घटनास्‍थल पर नहीं पहुंच सकी. पुलिस ने शनिवार को गैंगरेप के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया था. 4 आरोपियों की पुलिस तलाश कर रही है. मामले में घटना की जानकारी छुपाने और आरोपियों के साथ बच्चियों को भेजने के आरोप में स्टॉपमन मेमोरियल मीडिल स्कूल के प्रभारी सह सचिव फादर अल्फांसो आईंद को भी गिरफ्तार किया है.

डीजीपी डीके पांडे के खूंटी पहुंचने पर य‍ह कयास लगाया जा रहा था कि पुलिस रविवार को घटनास्‍थल पर जायेगी, मगर पत्‍थलगड़ी क्षेत्र से घिरा होने के कारण पुलिस वहां नहीं जा सकी. क्‍योंकि पत्‍थलगड़ी क्षेत्र में ग्रामसभा ने किसी के भी अनाधिकृत्‍त प्रवेश पर रोक लगा रखा है. रविवार को वहां एक ग्रामसभा भी हो रही थी, जिस कारण पुलिस ने घटनास्‍थल पर जाना मुनासिब नहीं समझा.

इसे भी पढ़ें :आदिवासियों की एकजुटता से डर गई है सरकार, इसलिए पत्‍थलगड़ी समर्थकों को रेपकांड में फंसा रही : जॉर्ज जोनास किडो

पुलिस पत्‍थलगड़ी समर्थकों को बता रही आरोपी, पत्‍थलगड़ी समर्थक पुलिस पर फंसाने का लगा रहे आरोप

पुलिस की मानें तो सामूहिक दुष्कर्म की पूरी साजिश पत्थलगड़ी समर्थक नेता जॉर्ज जोनास किडो ने रची थी. क्‍योंकि पत्‍थलगड़ी वाले क्षेत्र में ये युवतियां जागरुकता फैलाने का काम कर रही थी, जो पत्‍थलगड़ी समर्थकों को नहीं भाया और उनको सब‍क सिखाने के लिए इस घिनौने करतूत को अंजाम दिया गया. इस कांड के लिए उसने पीएलएफआई के उग्रवादियों की मदद ली और घटना को अंजाम देने का जिम्मा भी उग्रवादियों को दिया. मामले में गिरफ्तार दोनों आरोपी पश्चिम सिंहभूम जिले के हैं. वे पीएलएफआई नक्सली संगठन से जुड़े होने के साथ ही पत्थलगड़ी समर्थक हैं. वहीं दूसरी ओर ग्रामसभा को संबोधित करते हुये पत्‍थलगड़ी समर्थक नेता जॉर्ज जोनास किडो ने पुलिस के आरोपों को खारिज करते हुये अपने आप को निर्दोश बताया है और कहा कि पत्‍थलगड़ी से आदिवासी एकजुट हो रहे हैं, जिससे डर कर सरकार ने साजिश के तहत पत्‍थलगड़ी समर्थकों को फंसाया है.

इसे भी पढ़ें :बोकारो : 48 घंटे में नहीं सुधरी बिजली व्‍यवस्‍था तो होगी आर-पार की लड़ाई : समरेश

जागरुकता अभियान से पत्थलगड़ी समर्थकों ने बौखलाकर घटना की रची साजिश

एडीजी (ऑपरेशन) आरके मल्लिक ने बताया कि जॉर्ज जोनास किडो ने सामूहिक दुष्कर्म की साजिश रचने के लिए कोचांग से 7 किमी दूर छोटा उली जंगल में पत्थलगड़ी समर्थकों और पीएलएफआई के साथ बैठक की थी. बैठक में मौजूद अजूब और आशीष समेत छह लोगों को यह काम सौंपा गया. उसके बाद लड़कियों को अगवा कर इसी जंगल में लाकर गैंगरेप किया गया. उन्होंने बताया कि गांवों में जागरुकता अभियान से पत्थलगड़ी समर्थकों में बेचैनी बढ़ रही थी. वह दहशत फैलाकर ऐसे अभियानों पर अंकुश लगाना चाहता था.

 इसे भी पढ़ें :कार्डिनल तेलस्फोर पी टोप्पो हुये सेवानिवृत्‍त, जमशेदपुर के बिशप फेलिक्स टोप्पो संभालेंगे पद

Related posts

रन फॉर योग में दौड़ा डुमरी, लोगों को किया जागरूक

Sanjeev

बीजेपी को प्रचंड वोट देने के लिए मंत्री अमर बाउरी ने जताया आभार, कहा- प्रदेश में बह रही है विकास की धारा

Sanjeev

JMM केंद्रीय समिति की बैठक में उठी मांग, ईवीएम नहीं बैलेट पेपर से हो चुनाव

Rajesh

कृप्या ध्यान दें, कल सभी डॉक्टर रहेंगे हड़ताल पर, जांच घर भी रहेंगे बंद

Rajesh

डॉक्टरों ने किया प्रदर्शन, ममता सरकार को बर्खास्त करने की मांग की

Rajesh

27 जून से भूख हड़ताल पर जाएंगी एएनएम जीएनएम कर्मचारी

Rajesh
WhatsApp chat Live Chat