पेट्रोल-डीजल के दामों में हो रही बढ़ोत्‍तरी से लोगों परेशान, गाड़ी छोड़ चल रहे पैदल

धनबाद : केंद्र में भजपा की मोदी सरकार के चार साल पूरे हो जाने के बावजूद अब तक पेट्रोल डीजल के मूल्यों में हो रही वृद्धि को नियंत्रित नहीं किये जाने की वजह से  सरकार के खिलाफ  आम लोगों में भी आक्रोश देखने को मिल रहा है. पंपों पर पेट्रोल भरवाने के लिए पहुंचे बाइक सवार आम लोग अपनी बेबसी बयां करते नजर आ रहे हैं.

पेट्रोलियम डीलर एसोसिएशन ने की वैट कटौती की मांग

महिलाएं अपनी स्कूटी से लेकर रसोई गैस की बढ़ती कीमत से बढ़ रहे बजट से परेशान हैं. आम लोगों का कहना है कि बहुत जरूरी होने पर ही गाड़ी निकाल रहे हैं वरना पैदल चलना ही मुनासिब समझ रहें हैं. वहीं झारखंड पेट्रोलियम डीलर एसोसिएशन भी वैट की कटौती की मांग को लेकर राज्य सरकार के खिलाफ चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा कर चुकी है.




एक अक्टूबर को बंदी की घोषणा

सबसे पहले पेट्रोलियम डीलर एसोसिएशन मुख्यमंत्री से मुलाकात कर आम लोगों के साथ-साथ पेट्रोलियम व्यवसाइयों को हो रही परेशानियों से अवगत कराने का निर्णय लिया है. और अगर मुख्यमंत्री से मुलाकात नहीं हो पाती है तो 1 अक्टूबर को राज्य स्तरीय एक दिवसीय बंदी की घोषणा की है. जिसमें झारखंड के 1200 सभी पंप शामिल होंगे. साथ ही बंदी से पहले प्रधानमंत्री के झारखण्ड दौरे से ठीक पहले  पेट्रोल के खेल से संबंधित पम्पलेट सभी पेट्रोल पंपों पर ग्राहकों को वितरित किए जाने की बात कही है.





WhatsApp chat Live Chat