महिला सिपाहियों के साथ डीएसपी करते थे गंदी हरकत, छुट्टी के एवज में बुलाते थे केबिन में !

महिला सिपाहियोंपटना : महिला सिपाहियों ने पुलिस लाइन के डीएसपी पर दुर्व्यवहार और शोषण करने का आरोप लगाया है. 32 महिला सिपाहियों ने गुरुवार को राज्य महिला आयोग में अपनी शिकायत दर्ज कराई. महिला सिपाहियों ने आरोप लगाया कि जब भी छुट्टी मांगते थे तो कहा जाता था केबिन में आओगी तो जितनी चाहिए उतनी छुट्टी मिलेगी. महिला सिपाही जब इसका विरोध करती थी और कहती थी कि सर मर जायेंगे तो डीएसपी को कोई फर्क नहीं पड़ता था और वे कहते हैं कि मर जाओगी तो पांच आदमी बुलाकर फेंकवा देंगे. तुम्‍हारे जगह नई बहाली हो जायेगी.

महिला सिपाहियों ने डीएसपी पर और भी कई गंभीर आरोप लगाये. जिसमें महिला सिपाहियों ने कहा कि जब पीरियड में स्‍पेशल लीव मांगते थे, तो वीडियो लाने को कहा जाता था.

सभी लड़कियों की शिकायत दर्ज कर ली गई है. महिला आयोग संज्ञान लेकर न्यायसंगत कार्रवाई करेगा. डीजीपी से मामले की जानकारी मांगी गई है. आयोग भी मामले की जांच करेगा और महिला पुलिसकर्मियों के आरोप सही पाए जाने पर उन्हें न्याय दिलाएगा.

दिलमणी मिश्रा

महिला आयोग की अध्यक्ष

दुबली-पतली महिला जवानों को डीएसपी बुलाते थे घर




महिला सिपाहियों ने आरोप लगाया कि दुबली-पतली महिला जवानों को डीएसपी अपने घर बुलाते थे और कहते थे मेरे साथ रहोगी तो स्वस्थ रहोगी. डीएसपी महिला सिपाहियों पर हमेशा गंदी नजर रखते थे. परेड के दौरान डीएसपी अश्लील हरकत और गंदे इशारे करते थे. परेड के दौरान बेहोश होने वाली सिपाहियों को सबको सामने बेईज्‍जत किया जाता था. पैसे देकर नौकरी ज्‍वाईन करने का आरोप लगाते थे.

167 में 77 महिला सिपाही बर्खास्‍त

167 में 77 महिला सिपाहियों को बर्खास्‍त कर दिया गया है, जिससे उनकी स्थिति बिगड़ती जा रही है.सभी आर्थिक तंगी के जूझ रही है साथ ही डिप्रेशन में भी है. महिला सिपाहियों का आरोप है कि 15 अगस्त से ही बिना फिजिकल व मेंटल ट्रेनिंग के ड्यूटी कर रही हैं. बर्खास्त सिपाहियों में कई ऐसी हैं जो उस वक्त पुलिस लाइन में थी ही नहीं. उन्होंने आयोग की अध्यक्ष दिलमणि मिश्रा के सामने कहा कि उनकी स्थिति आत्महत्या करने की हो गई है. महिला सिपाहियों ने नौकरी लौटाने की गु‍हार लगाई है. महिला सिपाहियों का कहना है कि उन्‍हें नौकरी से सिर्फ इसलिए निकाला गया, क्‍योंकि उन्‍होंने अपनी बात मीडिया के सामने रखी थी. 12 सिपाहियों को बिना उनका पक्ष जाने हटा दिया गया.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat