NEWS11

National

पर्यावरणविद जीडी अग्रवाल ‘सानंद’ का निधन, 111 दिनों तक गंगा के लिए किया था अनशन

नई दिल्ली : गंगा के मुद्दे पर 22 जून से अनशन कर रहे पर्यावरणविद जीडी अग्रवाल का निधन हो गया. जीडी अग्रवाल का निधन उस समय हुआ जब उन्हें हरिद्वार से दिल्ली लाया जा रहा था. आईआईटी में प्रोफेसर रह चुके जीडी अग्रवाल इंडियन सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड में सदस्य भी रह चुके थे. हालांकि अब वह संन्यासी का जीवन जी रहे थे.

बता दें कि गंगा में अवैध खनन, बांधों जैसे बड़े निर्माण और उसकी अविरलता को बनाए रखने के मुद्दे पर पर्यावरणविद स्वामी ज्ञान स्वरूप सानंद यानी प्रो. जीडी अग्रवाल अनशन पर थे. स्वामी सानंद गंगा से जुड़े तमाम मुद्दों पर सरकार को पहले भी कई बार आगाह कर चुके थे और इसी साल फरवरी में उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिख गंगा के लिए अलग से कानून बनाने की मांग की थी. कोई जवाब ना मिलने पर 86 साल के स्वामी सानंद 22 जून को अनशन पर बैठ गए थे. इस बीच दो केंद्रीय मंत्री उमा भारती और नितिन गडकरी उनसे अपना अनशन तोड़ने की अपील की थी, लेकिन वो नहीं माने.

आपको बता दें कि स्वामी ज्ञान स्वरूप सानंद उर्फ जीडी अग्रवाल पहले भी गंगा की सफाई के मुद्दे पर आमरण अनशन पर बैठ चुके हैं. वर्ष 2012 में वह आमरण अनशन पर बैठे थे. बाद में सरकार की ओर से अपनी मांगों पर सहमति मिलने के बाद अनशन समाप्त कर दिया. इस अनशन के दौरान उनकी हालत बिगड़ गई थी और इसके बाद उन्हें उत्तर प्रदेश के वाराणसी से दिल्ली लाया गया था.

Related posts

सरायकेला मॉब लिंचिंग मामला : पीएम मोदी ने कहा- दोषियों को बख्‍शा नहीं जायेगा, पूरे झारखंड को बदनाम करना गलत

Rajesh

भारत लौटेगा भगोड़ा मेहुल चोकसी, एंटीगुआ की सरकार रद्द करेगी नागरिकता

Sanjeev

बिहार, ओडिशा और गुजरात की 6 राज्‍यसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए नामांकन का आखिरी दिन आज

Sanjeev

ममता बनर्जी को एक और बड़ा झटका, विधायक समेत कई नेता बीजेपी में शामिल

Sanjeev

BREAKING : आरबीआई के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने दिया इस्‍तीफा

Sanjeev

इलाहाबाद हाईकोर्ट के जज के खिलाफ सीजेआई ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

Sanjeev
WhatsApp chat Live Chat