NEWS11

Bokaro Crime Jharkhand Jharkhand Top

गोमिया के चार मजदूर हैदराबाद में बने बंधक, एसडीओ से मुक्त कराने की लगाई गुहार

गोमिया (बोकारो) : गोमिया प्रखंड अंतर्गत स्वांग पुराना माइंस के चार मजदूर हैदराबाद के करनूल में दस माह से बंधक बनकर मजदूरी करने को विवश हैं. मंगलवार को  उनके परिजनों ने बेरमो एसडीओ प्रेम रंजन से मिलकर  मुक्त कराने की गुहार लगायी है. इस संबंध में परिजनों द्वारा एक पत्र भी सौंपा गया है. पत्र में कहा गया है कि गोमिया प्रखंड के स्वांग पुराना माइंस से 24 मजदूर काम की तलाश में आंध्रप्रदेश के हैदराबाद शहर अंतर्गत करनूल गए थे. वहां वे सभी एक ठेकेदार के अधीन काम कर रहे थे. लेकिन ठेकेदार ने उन मजदूरों से जानवरों की तरह काम लिया करता है और उन्हें मजदूरी तक नहीं देता.

ठेकेदार की इस शोषण से तंग आकर 20 मजदूर वहां से किसी तरह भाग कर वापस घर आ गए, मगर अभी भी चार मजदूर विक्की चौहान, छोटू चौहान, राजू सिंह और पवन सिंह उक्त ठेकेदार के यहां दस माह से बंधक बने हुए हैं. बंधक बने मजदूरों के परिजन प्रकाश सिंह, चंदन कुमार भुइयां और टिंकू कुमार ने मुखिया धनंजय सिंह ने उन्हें बेरमो के एसडीओ के पास ले गए और आवेदन देकर बंधक बने चारों मजदूरों की सकुशल वापसी एवं किये गए काम की मजदूरी भुगतान की मांग की है. एसडीओ प्रेम रंजन ने उन्हें आश्वस्त किया कि इस संबंध में आज ही बोकारो डीसी से मिलकर चारों मजदूरों की रिहाई के लिए कार्रवाई की जाएगी. गोमिया सीओ ओमप्रकाश मण्डल ने भी हर संभव मदद करने की बात कही.

Related posts

खूंटी में छऊ नृत्य पार्टी से भरा ट्रक पलटा, एक दर्जन से अधिक घायल, तीन गंभीर

Rajesh

अल्‍पसंख्‍यकों का विश्‍वास जीतने में जुटा एनडीए, सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास का दिया नारा

Rajesh

मुसीबत की घड़ी में जब अपनों ने छोड़ा साथ तो अल्‍लाह का बंदा बना सहारा (देखें वीडियो)

Rajesh

दिल्‍ली से वापस लौटे सीएम रघुवर दास, कार्यकर्ताओं ने‍ किया जोरदार स्‍वागत

Rajesh

भारतीय पशु चिकित्सक परिषद की स्थापना करे सरकार : एसोसिएशन

Manoj Singh

छुट्टी नहीं मिलने पर जैप हवलदार ने खुद को मारी गोली, रांची रेफर

Rajesh