नक्सली हमले में छह जवान शहीद, 5 जवान घायल

gadhava latehaar naksali hamlaगढ़वा : गढ़वा के नजदीक मंगलवार शाम को नक्सलियों ने लैंडमाइंस विस्फोट कर पुलिस की गाड़ी उड़ाया और अंधाधुंध फायरिंग की. इस घटना में छह जवान शहीद हो गए और पांच घायल हो गए. नक्सलियों ने घायल जवान के हथियार भी लूट लिए. ये जवान जगुआर फ़ोर्स के थे.

इस घटना के पाद से लगातार मुठभेड़ जारी है. नकस्लियों और पुलिस के बीच लगातार रुक-रुक कर फायरिंग हो रही है. पलामू के डीआईजी ने छह जवानों के मारे जाने की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि घटनास्थल पर लातेहार एसपी प्रशांत आनंद और गढ़वा एसपी शिवानी तिवारी भी नक्सलियों के खिलाफ चल रहे अभियान में शामिल हैं. उन्होंने अभी शहीद जवानों के नाम नहीं बताए हैं.

एसपीजी की मंजूरी के बगैर अब मंत्री भी नहीं पहुंच पायेंगे प्रधानमंत्री के करीब




बताया जा रहा है कि बूढा पहाड़ पर गढवा और लातेहार पुलिस, सीआरपीएफ के साथ झारखण्ड जगुआर फ़ोर्स संयुक्त रूप से नकस्लियों के खिलाफ अभियान को अंजाम दे रहे थे. इसी अभियान के तहत मंगलवार दोपहर को 2 बजे भंडरिया थाना कैंप से झारखंड जगुआर के जवान बूढा पहाड़  पर छापेमारी के लिए निकले थे. वहीं बूढा पहाड़ के नीचे शिंजो गाँव में नक्सलियों ने लैंडमाइंस बिछा रखे थे, जैसे ही जवानों की गाड़ी वहां पहुंची, एक जोरदार का धमाका हुआ. इस घटना में गाड़ी के परखच्चे उड़ गए और गाड़ी में सवार जवानों के चिथड़े उड़ गए. इसके बाद नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी.

खूंटी : हथियार सहित सांसद का गार्ड किडनैप, पुलिस के साथ पत्थलगड़ी समर्थकों का झड़प

बता दें कि इससे पहले भी 2010 में नक्सलियों ने इसी क्षेत्र में लैंड माइंस विस्फोट किए थे जिसमें 13 जवान शहीद हो गए थे. इस दौरान नक्सलियों ने 100 लोगों को बंधक भी बनाया था. झारखंड और छतीसगढ़ की सीमा पर स्थित बूढ़ा पहाड़ को नक्सलियों से मुक्त अब तक नहीं कराया जा सका है. पिछले छह महीनों से यहां नक्सलियों के विरुद्ध कई बड़े अभियान चलाए जा रहे हैं. जिससे वो बौखलाए हुए हैं.





WhatsApp chat Live Chat