गिरिडीह: गैस पाइप बिछाने के लिए कंपनी ने रौंदी लहलहाती फसलें, किसानों का धरना

Gail Company destroyed crops for fixing gas pipe linesबगोदर: गैस पाइप बिछाने वाली गेल कंपनी द्वारा बगोदर के तिरला गांव में कार्य के दौरान फसलों को नुकसान पहुचाने से आक्रोशित किसानों ने बगोदर के प्रखंड सह अंचल कार्यालय परिसर में एकदिवसीय धरना दिया.

मालूम हो कि किसानों से बगैर कोई बातचीत किये काम शुरू करने और डेढ़ दर्जन से अधिक किसानों के लहलहाते धान की फसल को पोकलेन से रौंद दिए जाने से किसानों में रोष है.

किसानों ने अखिल भारतीय किसान सभा के बैनर तले बगोदर अंचल सह प्रखण्ड कार्यालय में यह धरना संगठित किया और प्रखण्ड विकास पदाधिकारी रवि रंजन कुमार को गेल कंपनी के डायरेक्टर और संबंधित ठीकेदार पर 50 डिसमिल से अधिक जमीन पर लगे तकरीबन 200 क्विंटल धान की फसल को नष्ट करने का आरोप लगाते हुए कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है.

मंगलवार को दिन के साढ़े 11 बजे से लेकर 3 बजे तक चले इस धरने की अध्यक्षता तिरला निवासी शिव नारायण महतो और संचालन प्रखण्ड प्रमुख मुस्ताक अंसारी ने किया. धरने को संबोधित करते किसान सभा के प्रदेश संयोजक पूरन महतो ने कहा कि गेल कंपनी किसानों के साथ अत्याचार कर रही है, जिसे किसी भी हाल में बर्दाश्त नही किया जाएगा.




समूचे बगोदर अंचल के किसान महीनों से अधिग्रहित जमीन का 100 प्रतिशत मुआवजा देने, 30 मीटर के जगह पर 5 मीटर जमीन लेने और पूरे अंचल में एक मुआवजा देने संबंधी मांग को लेकर प्रखण्ड से लेकर जिले तक धरना-प्रदर्शन व आंदोलन करके झारखण्ड सरकार और गेल कंपनी के पदाधिकारियों को किसानों से वार्ता हेतु मांग की गई. इसके बावजूद तिरला में बिना किसानों से बातचीत किये और बिना मुआवजा दिए जबरदस्ती किसानों की धान की फसल को रौंदा गया है. उन्होंने कहा कि सरकार और गेल कंपनी अविलम्ब प्रभावित किसानों से मांगो के समर्थन में वार्ता करने का पहल करें अन्यथा काम नही होने दिया जाएगा.

वहीं बगोदर प्रखण्ड प्रमुख मुस्ताक अंसारी ने कहा कि गेल कंपनी जानबूझ कर किसानों को उलझाना चाह रही है, जो नही होने दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि 17 किसानों के सैकड़ो क्विंटल धान की फसल को बर्बाद करने वाली गेल कंपनी के डायरेक्टर और ठीकेदार पर अविलम्ब कानूनी कार्रवाई किया जाए और नष्ट फसलों के एवज में पर्याप्त मुआवजा दिया जाए  अन्यथा प्रभावित किसान आंदोलन को बाध्य होंगे.

उक्त धरने को जीप सदस्य सरिता महतो,नेमधारी महतो,यासीनअंसारी,तेजनारायण महतो,मंसूर आलम समेत कई लोगों ने संबोधित किया. धरने के पश्चात बगोदर अंचलाधिकारी को उपायुक्त को प्रेषित एक मांग पत्र सौंपा गया, जिसमें गोपाल डीह, पोखरिया,तारानारी, पोचरी,औरा, खरखरो,तिरला,हेसला,घाघरा, बगोदरडीह, जरमुने और अटका के प्रभावित किसानों को उनकी मांगों को पूरा किये बगैर गैस पाइप लाइन बिछाने का काम नही करने का अनुरोध किया गया है.





WhatsApp chat Live Chat