दुष्कर्मियों को गिरफ्तार करने में जल्द मिलेगी सफलता : आईजी आशीष बत्रा

शाहनवाज अख्तर, रांची : खूंटी की गूंज रांची से दिल्ली तक सुनाई दे रही है. मगर पत्थसगड़ी का मास्टरमाइंड युसूफ पूर्ति अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. वह लगातार अपना ठिकाना बदल रहा है. बेशक पुलिस ने खूंटी में दबिश देकर अपने कदम आगे बढ़ाएं हैं, ग्रामीणों ने भी पुलिस की तरफ उम्मीद भरी नजरें उठानी शुरू की है, लेकिन अभी तक दुष्कर्म के बाकी फरार अभियुक्त भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर ही हैं. वहीं मामले पर आईजी अभियान आशीष बत्रा का कहना है कि दुष्कर्मियों को गिरफ्तार करने में पुलिस को जल्द ही सफलता मिलेगी.




खूंटी में हालात इस हद तक बिगड़े कि पुलिस अपने हेड क्वार्टर तक ही सीमित रह गई थी. जाहिर है पत्थलगड़ी समर्थकों ने इसका फायदा उठाते हुए बैंक और समानांतर करेंसी नोट तक छापने की जुर्रत कर डाली. अफीम की खेती हर घर आंगन में होने लगी. घटना के बाद सरकार ने दबाव बनाया तो पुलिस बीहड़ों में दाखिल होते हुए “चांद” तक पहली बार पहुंची, आईजी अभियान के अनुसार अब खूंटी के चप्पे-चप्पे पर पुलिस का आधिपत्य होगा.

दुष्कर्म की घटना और मामला दर्ज करने को लेकर हुई देरी पर भी पुलिस पर कई सवालिया निशान हैं. ताजा जानकारी के अनुसार दुष्कर्म की घटना की शाम को ही एनजीओ संचालक ने सीआईडी प्रमुख को फोन पर इसकी सूचना दी थी. मगर कहा गया कि वो पीड़िताओं को लेकर रांची आ जाए. पुलिस के साथ जनता को भी दोषियों के गिरफ्तार होने का इंतजार है.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat