गिरिडीह : सदर अस्पताल में कूड़े का ढेर, मरीजों को संक्रमण का खतरा

सदरगिरिडीह : गिरिडीह का सदर अस्पताल हमेशा सुर्ख़ियों में रहता है. यहां इलाज के लिए आने वाले मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. कभी दवाईयों के लिए तो कभी बेड शीट और चादर के लिए मरीज परेशान होते हैं. अस्पताल प्रबंधन का रवैया अस्पताल की ओर उदासीन सा लगता है. तभी तो इस सदर अस्पताल के परिसर में कूड़े का ढेर लगा हुआ है. साफ-सफाई के प्रति अस्पताल प्रबंधन काफी निष्क्रिय दिख रही है. जिस तरीके से अस्पताल में गंदगी व कूड़े का ढेर लगा हुआ है, इससे मरीज संक्रमण की चपेट में कभी भी आ सकते हैं. गंदगी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि प्रसव गृह का कचरा अस्पताल परिसर में ही फेंक दिया जाता है. साथ ही साथ शौचालय काफी गंदा रहता है, जिसकी बदबू से मरीजों का वहां गुजरा दूभर हो गया है. ऐसी स्थिति में मरीज व परिजनों को अपने नाक पर रूमाल व कपड़ा रखना पड़ता है.

सिविल सर्जन ने झाड़ा पल्ला

इस बाबत जब सिविल सर्जन डॉ राम रेखा प्रसाद से पूछा गया तो उन्होंने मामले से अपना पल्ला झाड़ लिया. उन्होंने अनभिज्ञता जताते हुए कहा कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है. वैसे यह सब काम अस्पताल के मैनेजर का है. उन्होंने कहा कि आपने बताया है, तो इसकी जांच की जाएगी. मैनेजर को फोन कर बुलाया है. गंदगी को साफ करवा लिया जाएगा.




नगर निगम उठायेगा कचड़ा

इधर जब हॉस्पिटल मैनेजर से पूछा गया तो वे कैमरे में कुछ कहने से इनकार कर दिया. साथ ही कहा कि परिसर की सफाई के लिए नगर निगम को लिखा गया है. निगम कर्मी आकर अस्पताल परिसर में फैले कचड़े को उठाएंगे.

बहरहाल, सदर अस्पताल में फैली गंदगी को लेकर सिविल सर्जन व अस्पताल मैनेजर कितने गंभीर हैं  यह तो उनकी बातों से पता चल ही गया. वहीं, अस्पताल में फैली गंदगी को अगर जल्द ही नहीं हटाया गया, तो अस्पताल में इलाजरत मरीज ठीक होने के बजाय संक्रमण की चपेट मे आ सकते हैं.





WhatsApp chat Live Chat