गिरिडीह : छात्रा के साथ दुष्कर्म का प्रयास, मामला दर्ज, पढ़ाई के साथ करती है काम

दुष्कर्मआयुर्वेदिक दुकान में काम के साथ धनवार में कर रही थी पढ़ाई

गिरिडीह : जिले के राजधनवार बाजार स्थित एक व्यवसाई के घर रह रही एक अनुसूचित जनजाति की छात्रा के साथ दुष्कर्म का प्रयास किये जाने का मामला प्रकाश में आया है. घटना के सम्बंध में 19 वर्षीय पीड़िता ने धनवार थाना में शिकायत दर्ज कराया है. दिये गए आवेदन में पीड़िता ने कहा है कि मैं एक छात्रा हूं और अपनी ममेरी बहनों के साथ धनवार स्थित आलोक कुमार गुप्ता के पंचवटी आयुर्वेदिक दुकान में काम करती थी. मैं वहीं काम कर पढ़ाई भी कर रही थी. अचानक 11 सितम्बर 2018 दिन मंगलवार 10 बजे सुबह मैं अपने कमरे में अकेली पढ़ रही थी. उसी वक्त दुकान मालिक आलोक कुमार गुप्ता उम्र लगभग 29 वर्ष मेरे कमरे में आया और कमरे का दरवाजा बंद कर गलत संबंध बनाने का प्रयास करने लगा, जिसका हमने विरोध किया. बावजूद वह जोर-जबरजस्ती करने लगा. अस जोर –जबरदस्ती में उसका कपड़ा भी फट गया. किसी तरह जान और इज्जत बचाते हुवे वे कमरे से भाग निकली और घटना की जानकारी अपनी ममेरी बहन मैनो को दी. पर मैनो ने भी आलोक गुप्ता का ही साथ दिया. कहा कि यहां रहना है तो ये सब सहना पड़ेगा. मैनो का जवाब सुन मैं वहां से नकल कर  घर चली गयी. घर पर पिता व भाई कोई नहीं थां जिसके कारण थाना में आवेदन देने में विलम्ब हुआ. उसने नामजद आरोपी पर उचित कानूनी कार्रवाई करने का आग्रह किया है.




क्या कहता है आरोपी

आरोपी आलोक गुप्ता ने घटना को बेबुनियाद बताते हुवे कहा कि मुझ पर लगाये गए आरोप गलत हैं. साजिश के तहत मुझे फंसाया जा रहा है. मुझे कानून पर भरोसा है, उचित जांच होगीं

क्या कहते हैं नेता

घटना के सम्बंध में दुख व्यक्त करते हुवे जेवीएम नेता सुकेज हेम्ब्रम ने कहा कि यह एक निंदनीय घटना है. गरीब माता-पिता अपने बच्चों के भविष्य को संवारने के उद्देश्य से बाहर जा कर पढ़ने छोड़ते हैं पर गरीबी का फायदा उठाते हुवे व्यवसायिक वर्ग के लोग शोषण कर रहे है। उक्त घटना पर पुलिस प्रशासन अतिशीघ्र कार्रवाई करे अन्यथा आदिवासी समाज तथा जेवीएम पार्टी आंदोलन करने को बाध्य होगी.

इधर घटना के सम्बंध में धनवार थाना प्रभारी कमलेश प्रसाद द्वारा धनवार थाना में कांड संख्या 345/18 दिनांक 19/09/18 धारा 448/376/511/506/34 आईपीसी एवं 3(डब्लू)(1) एससीएसटी. एक्ट 1989 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. प्राथमिकी दर्ज होने के बाद खोरीमहुआ पुलिस पदाधिकारी राजीव कुमार मामले की जांच कर रहे हे.





WhatsApp chat Live Chat