गिरिडीह : जिस बस का था खलासी, उसी में मिली लाश, ड्राइवर फरार, जांच में जुटी पुलिस

खलासी की लाश मिलीसरिया (गिरिडीह) : धनबाद से मरकच्चो वाया इसरी, बगोदर, धनवार, खोरीमहुआ, घोड़थंबा से कुबरी जाने वाली शिव डीलक्स बस जेएच 02 AD 3150 में इसी बस के खलासी की लाश मिली. जिससे क्षेत्र में सनसनी फैल गई. शव की पहचान योगेंद्र तिवारी (23) पिता लक्ष्मण तिवारी ग्राम बिशनपुर थाना राजधनवार के रूप में की गई. बताया जाता है कि उक्त बस के चालक ने शनिवार को दिन के 10 बजे सरिया थाना के मुख्य द्वार पर बस को खड़ा कर फरार हो गया. काफी देर के बाद पुलिस अधिकारियों ने उक्त बस की तलाशी ली. जहां बस में एक व्‍यक्ति की लाश मिली. जिसकी पहचान योगेंद्र तिवारी 23 वर्ष के रूप में हुई, जो इसी बस का खलासी था.

इसे भी पढ़ें :हाईटेंशन तार की चपेट में आने से बस में लगी आग, एक यात्री की मौत, चार घायल

परिजनों ने ड्राइवर, बस मालिक व कंडक्‍टर पर लगाया हत्‍या का आरोप




घटना की सूचना मिलने के बाद मृतक के परिजन भी सरिया थाना पहुंचे. घटना कैसे घटी, कहां घटी, इसकी छानबीन में पुलिस जुट गई है. मृतक के पिता लक्ष्मण तिवारी ने सरिया थाना में एक आवेदन दिया है. आवेदन में कहा गया है कि उनका लड़का योगेन्द्र तिवारी शिव डीलक्स बस में बीते 3-4 वर्षों से खलासी का काम कर रहा था. शुक्रवार को भी वह बस में अपनी ड्यूटी पर गया था. शनिवार को दूरभाष पर किसी ने सूचना दी कि उनके पुत्र योगेन्द्र की मृत्यु हो चुकी है. उसका शव शिव डीलक्स बस में पड़ा हुआ है. उक्त बस सरिया थाना गेट के पास खड़ी है. परिजनों ने उसके हत्या का आरोप बस मालिक, कंडक्टर तथा ड्राइवर पर लगाया है. परिजनों का कहना है कि इसे घटना का रूप देने के लिए शव को गाड़ी पर छोड़ कर वे लोग फरार हो गये. परिजनों ने मामले में आवश्यक कानूनी कार्रवाई की मांग की है. इधर सरिया पुलिस ने शव को पोस्‍टमार्टम के लिए गिरिडीह भेजे दिया है.

इसे भी पढ़ें : श्मशान घाट भूमि पर पार्क निर्माण का विरोध, प्रस्तावित स्थल पर शव जलाकर लोगों ने किया प्रदर्शन

इसे भी पढ़ें :बिशुनपुर मॉडर्न स्कूल में छात्र-छात्राओं से हो रही अवैध वसूली, डर से कई विद्यार्थियों ने स्‍कूल छोड़ा





Loading...
WhatsApp chat Live Chat