गिरिडीह : पांच वर्षों से चली आ रही जमीन विवाद में खूनी संघर्ष, छह घायल

जमीनबिरनी (गिरिडीह) : बिरनी थाना क्षेत्र के पड़रमनियां पंचायत के पड़रिया टांड़ गांव में गुरुवार को एक जमीन को लेकर दो गुटों में मारपीट हो गई. मारपीट ने इस कदर विकराल रूप धारण कर लिया कि दोनों पक्षों से लाठी-डंडे और तलवार चलने लगे. देखते ही देखते गांव रणक्षेत्र में तब्दील हो गया. इस विवाद में दोनों पक्षों के छह लोग जख्मी हो गया. जिसमें एक पक्ष के अहमद अंसारी, आरिफ अंसारी, इम्तियाज अंसारी घायल हो गये. वहीं द्वितिय पक्ष के हुसैनी मिंया, मंसूर मिंया, हलीम अंसारी घायल हो गये. घटना की सूचना मिलते ही बिरनी पुलिस दल-बल के साथ मौके पर पहुंची. मामला को शांत कराया और सभी घायलों को इलाज के लिए बिरनी पीएचसी ले गये.

विवाद का क्या था कारण 

घटना के संबध में बताया जाता है कि दोनों पक्षों के बीच लगभग पांच वर्षों से जमीन का विवाद चल रहा है. पूर्व में अंचल कार्यालय बिरनी व अनुमंडल पदाधिकारी सरिया में मामला चला था. कई बार जमीनी विवाद को सुलझाने के लिए ग्रामीण स्तर पर बैठक भी की गयी थी, लेकिन मामला नहीं सुलझा. गुरूवार को उक्त विवादित जमीन पर हुसैनी  मिंया द्वारा शौचालय निर्माण कार्य किया गया जा रहा था. जिसे रोकने के लिए अहमद मिंया अपने समर्थकों के साथ पहुंच गये. उन्होंने काम को बंद कराने का प्रयास किया. जिसपर दोनों पक्षों में विवाद शुरु हुआ और खूनी संघर्ष में तब्दील हो गया.




दोनों पक्ष के पास है जजमेन्ट 

जमीन विवाद में खूनी संघर्ष का मुख्य कारण जमीन का दस्तावेज बताया जा रहा है. दोनों पक्षों के साथ जमीन का दावा पेपर है. यह जानकारी प्रथम पक्ष अहमद अंसारी और दूसरे पक्ष के हुसैन मियां ने बताया दी. उन्होंने बताया कि एक पक्ष को अंचल कार्यालय द्वारा जमीन के मालिकाना हक का जजमेन्ट दिया गया है, तो दूसरे पक्ष को अनुमंडल कार्यालय द्वारा जजमेन्ट दिया गया है.





WhatsApp chat Live Chat