BREAKING

दलालों के चंगुल से बच कर भाग निकली युवती, काम के बहाने पांच वर्षों से दिल्ली में थी बंधक

giridihगिरिडीह : दलालों के चंगुल से बचकर 16 वर्षीय सुरेखा (काल्‍पनिक) अपने घर पहुंची. गंभीर अवस्था में उसे गिरिडीह सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसका इलाज चल रहा है. बताया जाता है कि मुफस्सिल थाना क्षेत्र के जंगलपुर के स्वर्गीय राम लाल मरांडी की 16 वर्षीय पुत्री सुरेखा को गांव के ही एक दलाल सामेल मरांडी नौकरी दिलाने के नाम पर वर्ष 2014 में दिल्ली ले गया था.



इसके बाद परिजनों को सुरेखा की कोई खबर नहीं मिली. जब परिजनों ने सामेल मरांडी पर सुरेखा को वापस लाने का दवाब बनाया तो 3 जुलाई को सामेल ने सुरेखा को गिरिडीह लाया. सुरेखा इतना कमजोर है कि वह चल नहीं नहीं सकती. कमर के नीचे का हिस्सा काम नहीं कर रहा है. परिजनों ने आशंका जताया कि सुरेखा का किडनी निकाल लिया गया है.

सुरेखा के कमर के ऊपर ऑपरेशन का निशान भी है. परिजनों ने बताया कि सामेल मरांडी कई अन्य लड़कियों को नौकरी के नाम पर दिल्ली में बेच दिया है. सुरेखा का किडनी निकला है या नहीं इसकी जांच की जा रही है.



WhatsApp chat Live Chat