गोमो: बीसीसीएल कर्मचारी ने कीटनाशक खाकर दी जान, काफी दिनों से था डिप्रेशन में (वीडियो)

 Gomo Man commits suicide in depressionगोमो: ज्यादातर लोग डिप्रेशन को नजरअंदाज कर देते हैं. कई लोगों की नजर में ये कोई बीमारी नहीं, बल्कि एक माहौल होता है, जिसमें इंसान थोड़ा दुखी रहता है. लेकिन अगर इसका सही तरह से इलाज ना किया जाए, तो इंसान इसमें अपनी जिंदगी समाप्त करने का फैसला भी कर लेता है.

ऐसा ही एक मामला गोमो में सामने आया है. यहां खेसमी पंचायत के खेसमी रेलवे फाटक के समीप रेलवे तालाब के किनारे महेंद्र रजक का शव मिला. महेंद्र की उम्र करीब 42 साल थी. शव के पास कीटनाशक दवाओं की दो खाली बोतल भी मिली है.

स्थानीय लोगों और परिजनों के अनुसार मृतक महेंद्र रजक bccl कतरास में माइनिग सरदार के पद पर कार्यरत था. इधर कुछ महीनों से वो मानसिक रूप से बीमार चल रहा था. शायद इसी कारण महेंद्र रजक ने कीटनाशक दवा खाकर अपनी इहलीला समाप्त कर ली.




इधर तोपचांची थाना ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए pmch धनबाद भेज दिया है. शव मिलने के बाद से परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है. स्थानीय मुखिया बैजनाथ महतो का कहना है कि मृतक बहुत सुलझा हुआ व्यक्ति था. कुछ महीनों से मानसिक रूप से बीमार रहने के कारण उसका इलाज रांची से कराया जा रहा था. इस बीमारी के कारण वो अपनी ड्यूटी भी नही जा पा रहा था, जिसके कारण वो काफी टूट चुका था. शायद इसी कारण उसने कीटनाशक दवा खाकर आत्महत्या कर ली.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat