रेल यात्रियों के लिए एक अच्छी खबर, अब कतार में लगे बिना मोबाइल से मिलेंगे जनरल टिकट

drmबोकारो : बोकारो एवं आसपास के निवासियों सहित आद्रा मंडल के रेल यात्रियों के लिए एक अच्छी खबर है. रेल सुविधाओं में तकनीक के इस्तेमाल से अब एक और सहूलियत होने जा रही है. पहले जिस तरह लोग आईआरसीटीसी सहित अन्य निजी मोबाइल एप के जरिए रेलवे का आरक्षित टिकट बुक कराते रहें, अब उसी तरह अनारक्षित टिकटों की बुकिंग भी मोबाइल एप के माध्यम से संभव हो सकेगी. जनरल टिकटों की बुकिंग बिना कतार में लगे हुए मोबाइल के माध्यम से यात्री करा सकते हैं.


देश की सुरक्षा से समझौता कर रही है सरकार : कांग्रेस

चार जुलाई से काम करने लगेगा यूटीएस एप

यूटीएस नामक इस मोबाइल एप के माध्यम से जनरल एवं लोकल टिकट सहायता के साथ कटाये जा सकते हैं. इंडियन रेलवे के इस एप का उपयोग दक्षिण पूर्व रेलवे के यात्री आगामी चार जुलाई से कर सकेंगे. इसे लॉन्च करने की तैयारी पूरी जोरों से चल रही है. उक्त जानकारी आद्रा मंडल के डीआरएम शरद कुमार श्रीवास्तव ने बुधवार को बोकारो स्टील सिटी रेलवे स्टेशन पर एक प्रेस वार्ता में दी.


रिम्‍स : डॉक्‍टर ने आईसीयू में भर्ती करने को कहा, अस्‍पताल कर्मियों ने बरामदे में सुला दिया, मरीज गंभीर

यात्री सुविधाओं के लिए रेलवे तत्‍पर : डीआरएम

डीआरएम ने बताया कि यात्री-सुविधाओं के मद्देनजर रेलवे का यह एक महत्वपूर्ण कदम है. रेलवे यात्री सुविधाओं को लेकर सदैव तत्पर है. इसी के तहत पहल की जा रही है. एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम वाले स्मार्टफोन में इसे गूगल प्लेस्टोर से आसानी से इंस्टॉल कर पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी करने के बाद उपयोग में लाया जा सकता है. इसके जरिए पेपरलेस टिकट की बुकिंग कराई जा सकती है. अपने मोबाइल वॉलेट को जोड़कर अथवा ई-पेमेंट सुविधाओं के प्रयोग से टिकट के एवज में भुगतान किया जा सकता है और जो टिकट निर्मित होगा उसे टीटीई के आने पर दिखाया जा सकता है.


सरकार जनजातीय समुदाय की आबादी कम होने से चिंतित : नीलकंठ सिंह मुंडा

स्टील सिटी स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या-3 का विस्तारीकरण जल्द

एक सवाल के जवाब में डीआरएम ने कहा कि बोकारो स्टील सिटी स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या-3 का विस्तारीकरण जल्द किया जाएगा. इसके लिए काम किया जा रहा है. स्टेशन पर बिजली कटने के बाद अंधेरे की समस्या को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि बहुत जल्द बोकारो स्टील सिटी रेलवे स्टेशन पर पहुंच क्षमता वाले जनरेटर को लगाने की तैयारी है. उन्होंने स्टेशन की लिफ्ट सुविधा को भी बहुत जल्द दुरुस्त किए जाने की बात कही. स्टेशन परिसर में सुविधायुक्त पार्किंग की व्यवस्था भी उन्होंने शीघ्र प्रारंभ किए जाने की जानकारी दी. एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने रेलवे स्टेशन परिसर में वाहनों से जबरन अवैध वसूली रोकने को लेकर रेलवे सुरक्षा बल के साथ विशेष अभियान चलाकर कार्रवाई करने की बात कही.





रांची पहुंचा शहीद जवानों का शव, रघुवर दास ने दी श्रद्धांजलि

आंदोलन करने वालों पर डीआरएम ने जताई नाराजगी

आगे डीआरएम ने स्टेशनों पर होने वाले आंदोलनों को लेकर गहरी नाराजगी व्यक्त की. उन्होंने कहा कि स्टेशनों पर धरना-प्रदर्शन से रेलवे के साथ-साथ यात्रियों को भी भारी नुकसान झेलना पड़ता है. इस पर रोक लगनी चाहिए. प्रेसवार्ता में डीआरएम के साथ मुख्य रूप से सीनियर डीईएन हरसिमरन सिंह, सीनियर डीओएम राजेश कुमार, सीनियर डीसीएम एके चौधरी, सीएमएस, आद्रा केबी साहा, जनसंपर्क पदाधिकारी अभिनव भट्टाचार्य आदि उपस्थित थे.


अब रिंची अस्‍पताल में भी होगा किडनी के मरीजों का इलाज, डायलिसिस सेंटर का उद्घाटन

ऐसे काम करेगा यूटीएस एप

यूटीएस यानी अनारक्षित टिकट प्रणाली मोबाइल एप को प्रयोग में लाने के लिए सर्वप्रथम इसे आपको गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करना होगा. उसके बाद अपने मोबाइल नंबर से इसका पंजीकरण करना होगा. रजिस्ट्रेशन के बाद आप अपने मोबाइल नंबर और आपके द्वारा निर्धारित पासवर्ड से अपने खाते में लॉगिन कर टिकट की बुकिंग करा सकते हैं. यह लोकेशन ट्रैकिंग के आधार पर काम करता है. आपके मोबाइल लोकेशन में सबसे नजदीकी जो स्टेशन होगा, केवल वहीं से जोन में पड़ने वाले गंतव्य स्टेशन के लिए टिकट की बुकिंग की जा सकती है. जिस स्टेशन से आप यात्रा शुरू करेंगे, उस स्टेशन पर अथवा स्टेशन के समीप से नहीं, बल्कि स्टेशन से लगभग पांच किलोमीटर की परिधि से ही टिकट बुकिंग हो सकती है.


जज शिवपाल सिंह को जान का खतरा, हथियार के लिए दिया आवेदन, सुरक्षा गार्ड भी मांगा

लॉग-इन करने के बाद मिलेगा टिकट

अपने खाते में लॉग-इन करने के बाद टिकटों के प्रकार मिलेंगे. जिस तरह के टिकट की आवश्यकता होगी, उसके साथ-साथ रुट का चयन कर आगे भुगतान की प्रक्रिया पूरी कर टिकट बुक कराया जा सकता है. बुक कराए हुए टिकट को ‘शो टिकट’ ऑप्शन के जरिए टीटीई को दिखाया जा सकता है. टीटीई अपने स्मार्टफोन से आप के टिकट से संबंधित क्यूआर कोड को स्कैन कर वेरिफाई करेगा. इस एप द्वारा बनाया गया टिकट तीन घंटे के लिए वैध रहेगा तथा इससे बुक किए गए पेपरलेस टिकट को कैंसिल नहीं किया जा सकता है. इसके साथ ही यूटीएस में किसी भी तरह की बुकिंग रियायत काम नहीं करेगी.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat