मुख्यधारा से भटकने के लिए मजबूर कर रही है सरकार : पारा शिक्षक संघ

पारा शिक्षक संघढाई सौ पारा शिक्षक परिवार के साथ जेल भरो अभियान में शामिल होकर देंगे गिरफ्तारी

गुमला : जिले के बिशनपुर प्रखंड के विभिन्न विद्यालयों में नौनिहालों को शिक्षा दे रहे लगभग दो सौ पारा शिक्षक 20 नवम्बर को अपने परिवार और बाल बच्चों के साथ गिरफ्तारी देकर अपना विरोध प्रकट करेंगे.

बिशुनपुर में पारा शिक्षकों ने बैठक आयोजित कर सरकार के विरोध में नारे लगाए. वहीं सामूहिक रूप से निर्णय लिया गया कि 20 नवम्‍बर को 11:00 बजे दिन में पारा शिक्षक अपने परिवार के साथ जेल भरो अभियान में शामिल होकर गिरफ्तारी देंगे.

पारा शिक्षक संघ के पदाधिकारियों ने कहा कि हम लोग बच्चों के जीवन को संवारने के लिए लंबे समय से उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र होने के बावजूद काम कर रहे हैं. जब हमारा पेट नहीं भर रहा है तो सरकार से गुहार लगाने पर सरकार हम पर लाठी बरसा रही है. हमारी मांग तो बस इतना ही है कि हम अपने पेट भरने के अलावे अपने बाल बच्चों का भविष्य संवार सकें. मजबूर होकर हम सभी पारा शिक्षकों को मुख्यधारा से भटकना पड़ेगा.




वक्‍ताओं ने कहा कि अगर अधिकार मांगना अपराध है तो हम सौ बार यह अपराध करेंगे. पारा शिक्षकों ने रांची जेल में बंद 280 पारा शिक्षकों को तत्काल रिहा करने मांग की. रिहा नहीं करने पर उग्र आंदोलन करने की बात कही. उन्होंने कहा कि यदि किसी भी विद्यालय में बाहर से शिक्षक की प्रतिनियुक्ति होती है, तो इसका जमकर विरोध किया जाएगा. महिला पारा शिक्षकों ने कहा कि कही ऐसा ना हो कि हम लाचार और मजबूर होकर किसी दूसरे धारा की और अपना रास्ता न मोड ले. यह लड़ाई मेरी सरकार से है और आर-पार की लड़ाई में हम हर कुर्बानी देने को तैयार हैं.

मौके पर कपिल देव,  भोला साहू, अमीन उरांव, चंद्रेश साहू, विनोद, प्रदीप उरांव, सामुएल बिंदेश्वर उरांव, अजीत उरांव, संदीप समेत सैकड़ों पारा शिक्षक मौजूद थे.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat