मूर्तिकार रामचंद्र पाल पर मां दूर्गा की कृपा, पिछले 50 वर्षों से माता की प्रतिमा को दे रहे जीवंत रूप

मूर्तिकार रामचंद्र पाल

विनीत उपाध्याय

रांची : राजधानी रांची में दूर्गा पूजा की तैयारी जोरों पर है. मां दूर्गा की प्रतिमा निर्माण कार्य भी अंतिम चरण में है. थड़पकना में मूर्तिकार रामचंद्र पाल पिछले 45-50 वर्षों से मूर्ति निर्माण का कार्य कर रहे हैं. मूर्तिकार रामचंद्र पाल के हाथों में मानो जादू है. उनका हाथ लगते ही मूर्तियों में जैसे जान आ जाती है. ये दूर्गा पूजा के साथ-साथ सरस्‍वती पूजा, लक्ष्‍मी पूजा, काली पूजा, गणेश पूजा समेत लगभग सभी पूजा में मूर्तियों का निर्माण करते है. अभी दूर्गा पूजा के लिए ये 30-35 पंडालों के लिए मूर्तियां तैयार कर रहे हैं. इसबार ये 30 फिट का एक विशालकाय मूर्ति का निर्माण कर रहे हैं, जो पिंजरापोल पंडाल के लिए है.

Read More : बोकारो: दबंगों ने निजी इस्पात कंपनी के कर्मी को नंगा कर पीटा, कहा- सारे टेंडर हमें ही देना

Read More : धनबाद BREAKING: पीएचडी छात्र ने हॉस्टल में लगाई फांसी

Read More : जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा में 24 घंटे से जारी मुठभेड़ में 2 और आतंकी ढेर


मूर्तियों के लिए विशेष मिट्टी का होता है उपयोग

मूर्तिकार रामचंद्र पाल की मानें तो मूर्ति निर्माण में विशेष मिट्टी का उपयोग होता है. मगर पहले वाली मान्‍यता अब लगभग समाप्‍त हो चुकी है. एक विशेष प्रकार की चिकनी मिट्टी से मूर्ति का निर्माण किया जाता है. जिससे मूर्तियों को आकार देने में आसानी होती है.




Read More : नरक की सैर करनी हो तो गिरिडीह आइए

Read More : गर्भवती को ‘ओ’ की जगह चढ़ाया ‘बी’ ग्रुप का ब्लड, बच्चे को जन्म दे मौत

बारिश के दिनों में होती है परेशानी

दूर्गा पूजा के लिए मूर्ति तैयार करने में इन लोगों को थोड़ी परेशानी होती है. दूर्गा पूजा के समय बारिश का मौसम होने के कारण मूर्ति निर्माण करने में परेशानी होती है, क्‍योंकि मूर्तियों को बचाने की भी व्‍यवस्‍था इनलोगों को करनी पड़ती है. मूर्तिकार रामचंद्र पाल की मानें तो इसके लिए उन्‍हें विशेष तैयारी करनी पड़ती है.

Read More : राजधानी में अपराधियों का दुस्साहस, पुलिस से राइफल छीन भागे अपराधी

Read More :  सड़क हादसे में मुहर्रम का अखाड़ा खेलकर लौट रहे दो युवकों की मौत

हर हाल में पंचमी तक पंडालों को मूर्ति सुपुर्द कर देना है, इसलिए मूर्ति निर्माण कार्य में मूर्तिकार दिन-रात लगे हुये हैं. उन्‍होंने बताया कि मां दूर्गा की प्रतिमा का निर्माण तो सरस्‍वती पूजा के बाद से ही शुरू हो जाता है, मगर अब प्रतिमा ने रूप लेना शुरू कर दिया है. कुछ दिनों में प्रतिमा को जीवंत रूप दे दिया जायेगा. उन्‍होंने मां दूर्गा से परिवार व पूरे देश की सुख-शांति व समृद्धि की कामना की है.

Read More :  मजदूर के प्राइवेट पार्ट में भर दिया हवा, 16 दिन बाद हुई मौत, वायरल हुआ वीडियो





Loading...
WhatsApp chat Live Chat