BREAKING

दुर्दशा पर रो रहा हटिया मुक्तिधाम, लाश जलाने में हो रही परेशानी

hatiya cemetry bad condition रांची: स्वर्णरेखा नदी के किनारे बना हटिया मुक्तिधाम अपनी दुर्दशा पर रो रहा है. यहां ना तो साफ-सफाई की व्यवस्था है ना शव जलाने की उचित व्यवस्था. इस मुक्तिधाम के ऊपर ना तो रांची नगर निगम ध्यान दे रहा है, ना जिला प्रशासन.

स्थानीय लोगों ने कई बार इसकी शिकायत की है. लेकिन किसी ने इस और ध्यान नहीं दिया. श्मशान घाट में सिर्फ एक ही शवदाह गृह है, जिसका एक पाया 2017 में बारिश के दौरान बह गया था, इस ओर अभी तक किसी का ध्यान नहीं गया.



शव जलाने के समय लोगों को खासी परेशानी होती है. एक लाख आबादी को कवर करने वाले इस मुक्तिधाम में सिर्फ एक ही शव गृह है जो कि पर्याप्त नहीं है. यदि कभी एक साथ कई शव पहुंचते हैं तो या तो इंतजार करना पड़ता है या फिर नदी किनारे सफाई कर अव्यवस्थित तरीके से शवों को जलाना पड़ता है.

हटिया मुक्तिधाम में साफ-सफाई की कोई व्यवस्था निगम के द्वारा नहीं की जाती है. यहां के स्थानीय युवाओं ने ही साफ-सफाई का जिम्मा उठा रखा है. नगम द्वारा मुक्तिधाम में शौचालय की व्यवस्था तो की गई है, लेकिन वो आम लोगों के लिए उपलब्ध नहीं है. हर वक्त ताला जड़ा रहता है. स्थानीय लोगों के द्वारा ही शव यात्रा के साथ जाने वाले लोगों के विश्रम के लिए व्यवस्था की गई है. कुछ युवाओं द्वारा किए प्रयास सराहनीय तो हैं, लेकिन नाकाफी हैं.



WhatsApp chat Live Chat