BREAKING

हजारीबाग : अधर में लटकी 40 सरकारी योजनाएं, धरातल पर उतारने को सदर विधायक ने की पहल

हज़ारीबाग़ : हजारीबाग जिला हमेशा से राजनीतिक दृटिकोण से समृद्ध रहा है, लेकिन यहां की जनता को हमेशा से छला जा रहा है. लोग बुनियादि समस्याओं से जूझ रहे हैं. अब आलम यह है कि हज़ारीबाग़ सदर विधानसभा क्षेत्र में 40 सरकारी योजनाएं अधर में लटकी हुई है. इन योजनाओं को धरातल पर उतारने के लिए सदर विधायक मनीष जायसवाल ने जिला प्रशासन से फरियाद किया है. साथ ही उन्होंने झारखंड सरकार को भी इस स्थिति से अवगत कराया है. सदर विधायक ने मंत्री सरयू राय को सारी बातें बतायी.



सदर विधायक मनीष जायसवाल ने कहा कि सरकारी योजनाएं जब भी बनायी जाती हैं तो इस बात को ध्यान में रखा जाता है कि योजना समय पर पूरा हो जाए. जिससे समाज के सबसे निचले तबके को भी इन योजनाओं का लाभ मिले. हजारीबाग की स्थिथि यह है कि यहां योजनाएं का आघाज तो हुआ पर उसे अंजाम तक नहीं पहुंचाया जा सका. विधायक का कहना है कि कई योजनाएं पिछले सरकार के समय की हैं, लेकिन अभी तक उनका काम पूरा नहीं हो पाया. इन योजनाओं में अगर कुछ कमी है तो उस कमी को दूर कर काम पूरा करना चाहिए. अगर फंड की कमी है, तो फंड का इंतजाम सरकार को करना चाहिए. अब विधायक मनीष जायसवाल राजधानी रांची जाने का विचार कर रहे हैं. रांची जा कर वे विभाग के अधकारियों से मुलाकात करेंगे, ताकि योजनाओं को धरातल पर उतरा जा सके. वहीं हज़ारीबाग़ के उपायुक्त को भी जानकारी दी गयी है. विधायक का यह भी कहना है कि कुछ योजना अब अनुपयोगी है, लेकिन उस योजना में  सरकार का पैसा लगा हुआ है, इस कारण भी उन योजनाओं को धरातल पर उतर जाना चाहिए.

कुछ वैसी योजना जो धरातल पर नही उतर पायी

कटकमसांडी स्कूल अधूरा, अल्पसंख्यक छात्रावास अधूरा पड़ा है, ग्रामीण इलाके के उप स्वास्थ्य केंद्र पूरा नहीं हो सका है, ग्रामीण इलाके कटकमसांडी का रोड नक्सल समस्याओं के कारण पूरा नहीं हो सका है. वहीं हज़ारीबाग़ के सदर विधायक का कहना है जल्द उन योजना को उतारना प्राथमिकता उनकी प्राथमिकता है.



WhatsApp chat Live Chat