BREAKING

हेमंत ने 13 एकड़ से ज्यादा बेशकीमती जमीन लाखों में खरीदी

hemant soren jameen vivaadरांची : बीजेपी के संथालपरगना सह प्रभारी रमेश हांसदा ने हेमंत सोरेन पर आदिवासियों की जमीन हड़पने का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि हेमंत सोरेन किस थाना क्षेत्र के निवासी हैं और उन्होंने कई थाना क्षेत्रों में जमीन खरीदी है. इतना ही नहीं उन्होंने सभी में अपना निवास स्थान अलग-अलग बताया है. उन्हें यह स्पष्ट करना चाहिए की आखिर वह किस क्षेत्र के निवासी हैं.

दरअसल, हेमंत सोरेन ने अपनी पत्नी और परिवार वालों के नाम पर 13 एकड़ से ज्यादा बेशकीमती जमीनें खरीदने का आरोप है. उन्होंने यह जमीनें रांची, धनबाद, बोकारो सहित राज्य के अन्य जिलों में खरीदी हैं. इन जमीनों में रांची के हरमू स्थित सोहराय भवन की जमीन के अलावा धनबाद और बोकारो में भी खरीदी गई जमीन शामिल हैं.




हेमंत सोरेन ने पत्नी कल्पना सोरेन के नाम पर अरगोड़ा में 2009 में करीब 51.9 डिसमिल जमीन राजू उरांव से खरीदी. यहां सोहराय भवन बनवाया गया. इस खरीददारी में कल्पना ने अपना पता अरगोड़ा थाना क्षेत्र बताया है और इस जमीन के एवज में रैय्यत को मात्र नौ लाख रूपए दिए गए हैं. जबकि इस जमीन  की कीमत दो लाख रूपए प्रति डिसमिल के हिसाब से 80 लाख रूपए होती है. इसके अलावा भी परिवार के अन्य सदस्यों के नाम पर जमीन खरीदने का आरोप है. रामगढ़ : चलती एम्बुलेंस में आग लगने के बाद हुआ विस्फोट

इस पर हेमंत सोरेन का कहना है कि उनके पास जो भी चल-अचल संपत्ति है, उसकी जानकारी निर्वाचन आयोग को दी जा चुकी है. सरकार चाहे तो जांच करा ले. उन्होंने कहा कि मैं कहां से हूं, यह झारखंड की जनता जानती है.

इससे पहले बीजेपी प्रवक्ता जे. बी. तुबिद ने आरोप लगाया था कि हेमंत सोरेन, दुर्गा सोरेन और बसंत सोरेन ने 2006 में धनबाद में करोड़ों की जमीन ख़रीदा था. उन्होंने राज्य के 21 जिलों में गरीब आदिवासियों की जमीन खरीदने का आरोप लगाया था. साथ ही उन्होंने इसकी जांच की मांग की थी.

रांची: हत्यारों को माला पहनाने पर भड़के यशवंत सिंहा, कहा- मेरा बेटा ‘नालायक’



WhatsApp chat Live Chat