BREAKING

भूमि अधिग्रहण बिल में संशोधन के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी- संयुक्त विपक्ष

hemant soren Land acquisition lawरांची : भूमि अधिग्रहण कानून में किए गए संशोधन के खिलाफ संयुक्त विपक्ष ने यह साफ कर दिया है कि यह लड़ाई तब तक जारी रहेगी जब तक सरकार इन बिल  को वापस नहीं ले लेती है. शुक्रवार को कांग्रेस भवन में आयोजित संयुक्त विपक्ष के प्रेस कॉन्फ्रेंस में बारी-बारी से हर नेता इस पर अपनी मुहर लगाते दिखे.

वहीं सरकार की सहयोगी आजसू प्रमुख सुदेश महतो  के सलाह पर नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने कहा कि वह सदन में चर्चा के लिए तैयार हैं बशर्ते कि सरकार पहले इस बिल को वापस लें. पहले सड़क और अब  सदन संयुक्त विपक्ष ने  यह साफ कर दिया है कि भूमि अधिग्रहण कानून में किए गए संशोधन के खिलाफ यह लड़ाई सड़क से सदन तक तब तक जारी रहेगी जब तक कि सरकार इस बिल को वापस नहीं ले लेती है. शुक्रवार को कांग्रेस भवन में आयोजित संयुक्त विपक्ष के संवाददाता सम्मेलन में बारी-बारी से हर नेताओं ने इस बात पर अपनी मुहर लगाई.




भूमि अधिग्रहण कानून में किए गए संशोधन के खिलाफ झारखंड बंद को सफल बताते हुए और राज्य सरकार द्वारा जारी आंकड़ों को झूठ का पुलिंदा बताते हुए संयुक्त विपक्ष ने लगे हाथ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में डेढ़ गुना की वृद्धि के केंद्र सरकार के निर्णय को छलावा बताया हैं. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर अजय कुमार ने कहा कि यह देश की पहली सरकार है जो किसानों के ऊपर जीएसटी लगाने का काम कर रही है. वहीं आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो के सलाह पर नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने कहा कि वह सदन में चर्चा के लिए तैयार हैं बशर्ते कि सरकार इस बिल को पहले वापस ले.

भूमि अधिग्रहण कानून में संशोधन का मसला विपक्ष के लिए किसी बड़े हथियार से कम नहीं है. लिहाजा विपक्ष की कोशिश अब इसी हथियार के आसरे 2019 की फसल काटने की है.



WhatsApp chat Live Chat