BREAKING

होमगार्ड जवान पर ‘टाइगर’ ने किया हमला, घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती

धनबाद : जिला में बुधवार को एक होमगार्ड का जवान विजय शंकर साह बुरी तरह घायल हो गया. वह जवान किसी टाइगर (बाघ या शेर) से भिड़ने में घायल नहीं हुआ है. बल्कि बैंक मोड़ थाना के 3 टाइगर जवानों विजय की जमकर धुनाई कर दी थी. घायल होमगार्ड जवान विजय शंकर साह का धनबाद पीएमसीएच में फिलहाल इलाज चल रहा है. जवान का एक पैर टूट गया है, साथ ही गंभीर चोटें भी आयी हैं. घायल होमगार्ड जवान विजय शंकर साह से मिलने होमगार्ड कंपनी कमांडर समेत कई अधिकारी अस्पताल पहुंचे.

ओवर स्मार्ट बनने की बात कह कर दी पिटाई

घायल जवान का आरोप है कि पिछले 7 जुलाई को वह सिटी सेंटर से ड्यूटी कर रात को गांधीनगर स्थित अपने घर लौट रहा था. इसी दौरान पुराना बाजार काली मंदिर के पास दो पक्ष आपस में लड़ाई-झगड़ा कर रहे थे. बीच-बचाव करने के लिए वह वहां पहुंचा था. उसी समय टाइगर के तीन जवान वहां पहुंचे और उन्होंने होमगार्ड जवान को ओवर स्मार्ट बनने की बात कह जमकर पिटाई कर दी.

होमगार्ड जवान का आरोप – शिकायत के बावजूद नहीं हुई कार्रवाई

घायल जवान विजय शंकर ने कहा कि उसने टाइगर जवानों को अपने बारे में बताया भी, कि वह होमगार्ड का जवान है. बावजूद इसके उन जवानों ने विजय को बुरू तरह पीटा. हालांकि बाद में उन्हीं जवानों ने विजय शंकर को घायलावस्था में पीएमचीएच में भर्ति कराया. घायल जवान ने पुलिस पर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया है. उसने कहा कि पूरे मामले को लेकर सरायढेला थाना में लिखित शिकायत दर्ज कराई गयी है, पर पुलिस ने अब तक टाइगर जवानों पर एफआईआर नहीं किया है. वहीं घायल जवान को अब केस मैनेज करने के लिए धमकी भी दी जा रही है.




कंपनी कमांडर ने कहा- मामला गंभीर, करेंगे आंदोलन

घायल जवान से मिलने होमगार्ड कंपनी कमांडर कैलाश कुमार राम ने पूरे मामले को गंभीर बताते हुए वरीय अधिकारी से शिकायत करने की बात कही. वहीं पूरे मामले को होमगार्ड एसोसिएशन ने गंभीरता से लिया. होमगार्ड वेलफ़ेयर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष रवि मुखर्जी ने कहा कि अगर जल्द एफआईआर  दर्ज नहीं की जाती है तो होमगार्ड एसोसिएशन धरना प्रदर्शन के लिए बाध्य होगा. रवि मुखर्जी ने आरोपी जवानों पर धारा 307 के तहत हत्या की साजिश का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है.

धनबाद एसएसपी मनोज रतन चोथे ने कहा कि उनके पास फिलहाल किसी प्रकार की शिकायत नहीं आई है. अगर शिकायत आयेगी तो डीएसपी स्तर के अधिकारी से पूरे मामले की जांच कराई जाएगी. दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. एसएसपी ने पूरे मामले पर फिलहाल कुछ भी कहने से इनकार किया है.

 



WhatsApp chat Live Chat