कैसे जान जोखिम में डाल मौत के पुल पर सफर करते हैं लोग (देखें वीडियो)

जान जोखिम में डाल मौत के पुल पर सफर करते हैं लोगधनबाद : आद्रा रेल डिवीजन के भोजूडीह भाया गोमो रेलखंड पर सुदामडीह स्टेशन के समीप दामोदर नदी पर एक ऐसा रेल पुल है, जिसपे न सिर्फ ट्रेनें दौड़ती है, बल्कि रोज सैकड़ों मोटरसाइकिलें भी फर्राटा भरती है. इस रेल पुल पर मौत से खेलते हुए प्रतिदिन हजारों लोग पुल के इस पार से उस पार आते-जाते हैं. रेलवे प्रशासन रेल पुल के दोनों छोड़ पर “चेतावनी बोर्ड” लगाकर अपने कर्त्तव्य का इतिश्री मान चुकी है.

इसे भी पढ़ें : सुरक्षाबलों को मिली बड़ी सफलता, नक्सलियों के बंकर से 2 शक्तिशाली सिलिंडर बम बरामद (देखें वीडियो)

इसे भी पढ़ें :  गोड्डा: संत थॉमस स्कूल का वैन बना आग का गोला, बाल-बाल बचे 16 बच्चे

यह पु‍ल 15 किलोमीटर के सफर को 2 किलोमीटर बनाता है




धनबाद के सुदामडीह और बोकारो के भोजूडीह रेलवे स्टेशन की सीमा को बांटती है दामोदर नदी. इसी दामोदर नदी पर दक्षिण-पूर्व रेलवे का पुल है. आद्रा रेल डिवीजन के भोजूडीह भाया गोमो रेलखंड पर दामोदर नदी पर बने इस रेलवे पुल से रोज 15 से 20 हजार लोग इस पार से उस पार आते-जाते हैं. इंडस्ट्री एरिया के लोगों के लिए यह मज़बूरी है कि क्षेत्र में नदी पर सड़क पुल नहीं है, रेलवे पुल का सहारा लेने पर इन्हें मात्र 2 किलोमीटर की यात्रा करनी पड़ती है तो वहीं सड़क पुल से आने-जाने पर इन्हें 15 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ेगी. सुदामडीह रेलवे स्टेशन प्रशासन रेलवे पुल पर मोटरसाइकिल, साईकिल की आवाजाही देखता है, पुल पर ट्रेन की चपेट में आने से होने वाली मौत का भी गवाह बनता है रेल प्रशासन. तभी तो रेल प्रशासन ने रियल के समीप बोर्ड लगा रखा है, जिसपे लिखा है, पुल के ऊपर अनाधिकृत्‍त प्रवेश वर्जित है.



इस पुल पर सफर करना खतरनाक तो है, पर मजबूरी भी है : स्‍थानीय लोग

दामोदर नदी पर बने रेल पुल के ऊपर मोटरसाइकिल चला रहे एक युवक का कहना है कि यह सुरक्षित नहीं है, डर लगता है, हादसा भी होता है और जानें भी जाती है, लेकिन पुल पर यात्रा करना उनकी मज़बूरी है, वहीं एक अन्य की मानें तो क्षेत्र के 20 हजार लोगों के लिए नदी पार करने का एक ही सहारा है. पुल पर मोटरसाइकिल चलाना खतरनाक है पर यह उनकी मज़बूरी भी है.


इसे भी पढ़ें : हजारीबाग: मछली पकड़ने को तालाब में डाला था जाल, फंसे 3 रॉकेट लॉन्चर





WhatsApp chat Live Chat